कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ का बड़ा बयान, कहा CM पद की भूख होती तो कब का कर लेता ये

मध्यप्रदेश

भोपाल. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने गुरुवार को कहा, मुझे इतना मिल चुका है कि अब मुझे सीएम बनने या कुछ भी हासिल करने की भूख नहीं है। बस कांग्रेस की सरकार बनाने के बारे में सोचा जा रहा है। मेरे मन में प्रदेश अध्यक्ष के पद को लेकर कुछ नहीं था। आदेश मिला तो काम कर रहा हूं। जब सरकार बनेगी, तब सीएम का नाम सोचा जाएगा। उन्होंने यह बात पत्रिका कार्यालय में ‘संवाद कार्यक्रम’ में कही।

शिवराज ने कभी एक किलो अनाज भी मंडी में नहीं बेचा
कमलनाथ ने कहा, शिवराज खुद को किसान पुत्र कहते हैं, लेकिन उन्होंने मंडी में एक किलो अनाज भी नहीं बेचा। बेचा हो तो बताएं। हालांकि उन्होंने कहा, शिवराज से अच्छे संबंध हैं। बाबूलाल गौर मेरी तारीफ करते रहे हैं क्योंकि मैंने यूपीए सरकार में मंत्री रहते हुए प्रदेश को ज्यादा पैसा दिया। भाजपा ने कांग्रेसियों की सूची बनाई, लेकिन उनके लोग हम तक इसे पहुंचा देते हैं।

भाजपा की संगठन शक्ति से मुकाबला
कमलनाथ ने कहा, मुकाबला चेहरे या उम्मीदवार से नहीं, भाजपा की संगठन शक्ति से है। हम संगठन को मजबूत कर रहे हैं। पहले लोग कांग्रेस में नहीं आते थे। अब आ रहे हैं।

राहुल गांधी के संग यात्रा
जन आशीर्वाद यात्रा को जवाब देने के बारे में पूछे गए सवाल पर कमलनाथ ने कहा, हम डेढ़ माह बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मध्यप्रदेश की यात्रा पर निकलेंगे। यात्रा में भाजपा सरकार के 15 साल का हिसाब मांगा जाएगा। लोगों से मिलेंगे, सभाएं होंगी। शिवराज का तो ढाई करोड़ का रथ है, लेकिन हमारी यात्रा साधारण बस में होगी।

दिग्विजय को मिल चुका सबक
दिग्विजय राज से भाजपा की तुलना के बारे में कमलनाथ ने कहा, दिग्विजय को जनता ने सबक सिखा दिया है। भाजपा अपनी बात करे। प्रदेश में युवा इंजीनियर बन रहे हैं, लेकिन नौकरी नहीं मिल रही। स्किल इंडिया के मायने नहीं हैं। यहां फाइनेंस सर्विस बोर्ड गठित होना चाहिए। इससे रोजगार के लिए सुविधा और निधि मिलने की जानकारी मिल सकेगी। निवेश को आकर्षित करने की जरूरत है।

चुनाव समिति का गठन एक-दो दिन में कर देंगे
टिकट वितरण के सवाल पर कमलनाथ ने कहा, प्रदेश चुनाव समिति का गठन एक-दो दिन में हो जाएगा। टिकट वितरण में तेरा-मेरा नहीं चलेगा। सिफारिश काम नहीं आएगी। प्रदेश प्रभारी बावरिया के उम्र संबंधी बयान पर उन्होंने कहा, वे कुछ भी कहें, लेकिन टिकट जिताऊ व्यक्ति को मिलेगा। हम इस बारे में दो सर्वे भी करा रहे हैं।