बड़ी खबर : मध्यप्रदेश के कई जिले बाढ़ में डूबे, हजारो लोग फंसे, यहां भारी बारिश का अलर्ट

मध्यप्रदेश

भोपाल। पूरे मध्यप्रदेश में भारी बारिश का दौर चल रहा है। कई जिलों से नदी-नाले उफान पर आ गए हैं। राजधानी भोपाल में नाला उफनने से दो बच्चों के बह जाने की खबर है। इसके अलावा प्रदेश के कई जिलों से भी आफत की बारिश की खबरें आने लगीहै। मौसम विभाग ने अभी आने वाले दो दिनों तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

मौसम विभाग के अलर्ट के बाद पूरे प्रदेश के जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। हाल ही में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी अलर्ट को देखते हुए लोगों से एक-दूसरे की मदद की अपील की है। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति मुसीबत में दिखे तो उसकी तुरंत मदद करें।

-इसके अलावा मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में आपदा नियंत्रण केंद्र भी स्थापित किया गया है। जहां भोपाल जिले में आने वाली बाड़ और आपदा से निपटने के लिए टीमें तैयार रखी गई है। एनडीआरएफ के दल ने भी किसी भी स्थिति से निपटने की तैयारी शुरू कर दी है।

यहां रिकार्ड हुई बारिश
मध्यप्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान इंदौर, भोपाल और होशंगाबाद संभागों के जिलों में और शहडोल, जबलपुर, उज्जैन संभागों के जिलों में अनेक स्थानों पर तथा शेष संभागों के जिलों में कुछ सथानों पर बारिश रिकार्ड की गई।

पिछले 24 घंटों के दौरान मध्यप्रदेश के बुदनी, डिंडोरी के अमरपुर में 15 सेमी, सीहोर और होशंगाबाद में 12 सेमी, लांजी 8, हटा 7, छिंदवाड़ा एवं कटंगी में 6, इच्छावर में 5, नरसिंहपुर, अमरकंटक, अनूपपुर, सागर, आगर एवं शाजापुर में 4 सेमी बारिश रिकॉर्ड की गई।

यहां भारी बारिश का अलर्ट
मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक बालाघाट, मंडला, सिवनी, अनूपपुर, डिंडोरी, सागर, दमोह, छिंदवाड़ा, नरसिंहपुर, आगर, शाजापुर, देवास एवं खंडवा जिलों में भारी बारिश हो सकती है।
-इसके अलावा सागर, शहडोल, उज्जैन, रीवा, ग्वालियर एवं चंबल संभागों के जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश की संभावना है। मौसम विभाग ने यह चेतावनी अगले 24 घंटों के लिए जारी की है।

रायसेन और सांची में जोरदार बारिश
इधर, रायसेन से खबर है कि एक सप्ताह के अंतराल के बाद रायसेन में मंगलवार सुबह छह बजे से बारिश का दौर चल रहा है।
सांची में निचले क्षेत्रों में पानी भरने की खबर है। सांची के स्तूप जाने वाले मार्ग समेत बस स्टैंड, स्टेशन रोड, हेडगेवार कॉलोनी आदि क्षेत्रों की सड़कों पर पानी भर गया है। रायसेन में खुदी पड़ी सड़कों पर आवागमन में परेशानी होने लगी है।

बैतूल जिले का संपर्क टूटा
बैतूल जिले में मंगलवार सुबह से शाहपुर, भौरा इलाके में हो रही तेज बारिश के कारण बैतूल-भोपाल नेशनल हाइवे 69 पर सुखी नदी में बाढ़ से यातायात बंद हो गया है। बैतूल में पिछले 24 घंटे में 42 मिमी बारिश दर्ज की गई है। बैतूल जिले का होशंगाबाद और भोपाल से सड़क संपर्क टूट गया है। नदी के दोनों किनारों पर सैंकड़ों वाहन रास्ता खुलने का इंतजार कर रहे हैं। हजारों यात्री जंगलों में फंस गए हैं।

भोपाल में पानी-पानी
मंगलवार सुबह से लगातार हो रही बारिश के बाद भोपाल के हबीबगंज अंडरब्रिज के नीचे यातायात रोक देना पड़ा। क्योंकि यहां करीब 4 फीट पानी भर जाने से वाहन नहीं निकल पा रहे थे।
-कई निचली बस्तियों में पानी भर गया। भोपाल में तीन घंटे के दौरान ही 31 मिमी बारिश हो चुकी थी।

मंदसौर जिले की सुवासरा तहसील से खबर है कि ग्राम अंगारी में नाले में बाढ़ से आवागमन प्रभावित हो गया है।

मध्यप्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश का दौर जारी है। भोपाल में मंगलवार सुबह से हो रही बारिश के चलते निचली बस्तियों में जलभराव हो गया है। हबीबगंज अंडरब्रिज के नीचे ट्रैफिक रोक दिया गया है। भोपाल में तीन घंटे में 30 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है। मौसम विभाग ने 15 जिलों भोपाल, मंडला, छिंदवाड़ा, सिवनी, इंदौर, देवास, मंदसौर, उज्जैन, होशंगाबाद, जबलपुर, अनूपपुर, सीहोर, रायसेन, धार और शाजापुर में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। बीते 24 घंटे में सबसे ज्यादा 116.0 मिलीमीटर बारिश होशंगाबाद में दर्ज की गई है। बैतूल में पिछले 24 घंटे में 42 मिमी बारिश दर्ज की गई है।

होशंगाबाद-भोपाल से बैतूल का सड़क संपर्क टूटा: बैतूल के शाहपुर, भौरा इलाके में 24 घंटे से जारी भारी बारिश के कारण बैतूल-भोपाल नेशनल हाइवे 69 पर सुखी नदी में बाढ़ से यातायात बंद हो गया है। भारी बारिश के चलते बैतूल जिले का होशंगाबाद और भोपाल से सड़क संपर्क टूट गया है।

उज्जैन में क्षिप्रा उफान पर
उज्जैन से गुजरी क्षिप्रा नदी में उफान होने से शहर की निचली बस्तियों में पानी भर गया है।

-रायसेन-विदिशा में भी बेतवा नदी उफान पर आने से प्रशासन अलर्ट हो गया है। यहां थोड़ी देर और पानी बढ़ने पर यातायात रोकना पड़ सकता है।

-सागर से भी नदी -नाले उफान पर आने की खबरें आ रही है। निचली बस्तियां जलमग्न हो गई हैं।
-नरसिंहपुर से खबर है कि सोमवार रात से शुरू हुई बारिश का दौर अब तक नहीं थमा है। इस कारण नदी और नाले में उफान आ गया। यहां पिछले 8 घंटों को दौरान 45 मिली मीटर बारिश दर्ज की जा चुकी है।

निर्माणाधीन डैम टूटा
मध्यप्रदेश के सिवनी जिले में बन रहा डैम टूट जाने से से काफी पानी बह गया है। दो मीटर ऊंची मिट्टी की दीवार ठहने से कई खेतों में पानी भर गया। आदिवासी बाहुल्य घंसौर विकासखंड के सरोरा गांव में यह डैम है।