मध्यप्रदेश : रीवा सहित 22 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी, टूट सकता है पिछले साल का रिकॉर्ड

मध्यप्रदेश रीवा

भोपाल। मौसम विभाग ने कहा है कि आने वाले 48 घंटे मध्यप्रदेश के लिए बेहद खतरनाक हैं। प्रदेश के 22 जिलों में भारी बारिश की आशंका जताई गई है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी लोगों से सतर्क रहने और विषम परिस्थितियों में फंसे लोगों को बचाने की अपील की है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करके कहा है कि राज्य में मानसून सक्रिय है। अगले 48 घंटों के दौरान भारी बारिश की आशंका जताई जा रही है। इससे बाढ़ जैसे हालात बन सकते हैं। सरकार ने ऐहतियातन जरूरी व्यवस्थाएं की हैं और नागरिकों को भी सतर्क रहना चाहिए। मुख्यमंत्री ने नागरिकों से अनुरोध किया है कि यदि कोई विषम परिस्थित बने तो सभी अपनी-अपनी क्षमता के अनुसार मदद करने के लिए आगे आएं।

इन जिलों में ज्यादा खतरा
मध्यप्रदेश के 22 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी के साथ ही कई स्थानों पर बाढ़ की आशंका व्यक्त की है। इनमें इंदौर, जबलपुर, शहडोल, एवं होशंगाबाद संभाग के जिले शामिल हैं। इसके अलावा सागर, रीवा, उज्जैन और भोपाल संभागों के जिलों में भी तेज बारिश की आशंका है। इसके अलावा खंडवा, खरगौन, बुरहानपुर, बैतूल, छिंदवाड़ा, सिवनी, बालाघाट, मंडला, अलीराजपुर, बड़वानी, देवास, रायसेन जिलों में भारी बारिश से बाढ़ की स्थिति बन सकती है। यहां अगले 48 घंटे सभी को सतर्क रहना चाहिए।

मदद के लिए आगे आएं
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लोगों से अपील की है कि किसी भी आपात स्थिति में एक-दूसरे की मदद के लिए तैयार रहें। अपने क्षमता के मुताबिक लोगों की मदद करें।

भोपाल में बना कंट्रोल रूम
मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। जिसमें भोपाल कलेक्टर, महापौर, समेत अन्य अधिकारी मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

भोपाल में भी बाढ़ का खतरा
मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में 14 और 17 अगस्त 2006 को आई भयंकर बाढ़ से कई लोग बह गए थे और पूरे शहर में पानी ही पानी हो गया था। कई लोग बेघर हो गए थे। ऐसी स्थिति नहीं निपटे इसलिए भोपाल के लोगों को भई सतर्क रहना चाहिए। किसी भी आपात स्थिति में भोपाल स्थित कंट्रोल रूम में संपर्क करना चाहिए।

कहां कितनी बारिश
पिछले 24 घंटों के दौरान मध्यप्रदेश के बालाघाट, परसवाड़ा में 7 सेमी, मलाजखंड 6, केवलारी, सिवनी एवं वारासिवनी में 5, नैनपुर एवं खकनार में 4, कटंगी, नेपानगर एवं सारंगपुर में 3 सेमी बारिश रिकार्ड की गई।