मध्यप्रदेश : हाथ-पैर बांधकर बिस्तर पर पटका, मुंह पर चिपकाया टेप, फिर सात युवकों ने…

क्राइम मध्यप्रदेश

भोपाल/रायसेन। मध्यप्रदेश में आए दिन हो रही ज्यादती की घटनाओं ने पूरे देश को हिला दिया है। ऐसा ही दिल दहलाने वाला मामला मध्यप्रदेश की राजधानी से लगे रायसेन से आया है, जिसमें सात युवक 12वीं की छात्रा को उठाकर ले गए और तीन दिनों तक कई बार उसके साथ दरिंदगी की। लड़की के परिजन भोपाल के हमीदिया अस्पताल में इलाज कराने आए थे और लड़की घर में अकेली थी।

मध्यप्रदेश के रायसेन जिले के बरेली थाना क्षेत्र के बाग पिपरिया की 19 वर्षीय छात्रा के साथ यह ज्यादती हुई है। मामले में दो आरोपी को पुलिस गिरफ्त में आ गए हैं, जबकि पांच अब तक फरार बताए गए हैं। छात्रा ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि वह एक जुलाई को शाम को अपने घर के बाहर अकेली खड़ी थी। उसकी मां बीमारी के कारण भोपाल के हमीदिया अस्पताल में भर्ती है और घर के सभी लोग अस्पताल गए हुए थे।
-तभी शाम साढ़े पांच बजे के आसपास पंडा बम्हौरी निवासी उसकी सहेली के भाई संजू धाकड़, आकाश धाकड़ मोटरसाइकिल से वहां आ गए और दोनों ने जबरन बाइक पर बैठा लिया। डर के कारण विरोध भी नहीं कर पाई।

-इसके बाद वे दोनों मुझे बाइक से प्रेमनगर स्थित आकाश धाकड़ लिए गए किराए के कमरे में ले गए।
-वो कुछ समझ पाती तब तक मुंह पर टैप चिपका दिया और दोनों हाथ और पैर रस्सी से बांध दिए। इसके बाद पलंग पर पटक दिया।
-रोते-रोते छात्रा ने बताया कि रात तक वो बिस्तर पर ही पड़ी रही।
-रात को आकाश धाकड़, संजू धाकड़ सहित रामकुमार चौधरी, राहुल धाकड़, संदीप धाकड़, अंकित भार्गव और अन्नू भार्गव कमरे में आ धमके। इसके बाद सभी ने बारी-बारी से दरिंदगी की।
-छात्रा ने बताया उन्होंने जान से मारने की धमकी दी, किसी को बताया तो जान से मार देंगे। उसके बाद वह जैसे-तैसे वहां से भाग सकी।

पुलिस ने भी धमकाया
इधर, पुलिस पर भी छात्रा को धमकाने के आरोप लगे हैं। छात्रा के मुताबिक बरेली थाने के एसआई राम सिंह ने मुझे डराया और धमकाया। उनका कहना था कि घटना में सिर्फ संजू धाकड़ और आकाश धाकड़ ही शामिल हैं। बाकी अन्य पांच आरोपियों के नाम इस घटना से जोड़े तो तुम्हारा केस कमजोर कर दूंगा। तुम्हारे खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई हो सकती है। छात्रा के मेडिकल में ज्यादती की पुष्टि होने के बाद पुलिस ने संजू और आकाश को हिरासत में ले लिया।

आरोपी लगातार धमकी दे रहे
लड़की के पिता ने बताया है कि बरेली पुलिस पर कुछ दबंग और नेता दबाव डाल रहे हैं। इस कारण सभी पांच आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जा रहा है।

कोल्डड्रिंक्स में पिला दिया था नशीला पदार्थ
छात्रा ने एसपी ऑफिस में टीआई कोतवाली रूपेश दुबे के समक्ष दिए गए बयान में बताया कि इन सातों आरोपियों ने हैवानियत की सारी हदें पार करते हुए मेरा बुरी तरह से शारीरिक शोषण किया। उन्होंने पानी और कोल्डड्रिंक्स में कुछ नशीला पदार्थ मिलाकर पिला दिया था, जिससे चक्कर आते रहे।
-मंगलवार को पानी पीने के बहाने कमरे के अंदर की खिड़की के कांच फोड़कर बमुश्किल बाहर आकर बरेली पहुंच गई। इसके बाद सीधे बरेली पुलिस थाने पहुंचकर सारी बात बता दी।<