MP : ‘लवर ब्वॉय’ के दिल ने 20 मिनट में पूरा किया 18Km का सफर, मर कर भी जिंदा रहना चाहता था अतुल

मध्यप्रदेश

प्रेम प्रसंग के चलते खुद को गोली मारकर आत्महत्या करने वाले अतुल लोखंडे का हार्ट अब दिल्ली एम्स में भर्ती एक मरीज के दिल में धड़केगा. जिसके लिेए दिल्ली में आज एम्स में भर्ती मरीज के लिये ग्रीन कोरिडोर बनाया गया. दिल्ली एयरपोर्ट से एम्स तक के लिए ग्रीन कोरिडोर बनाया गया और 18 किलोमीटर का सफर 20 मिनट में पूरा किया गया. दरअसल एम्स में भर्ती एक मरीज को दिल की आवश्यकता थी. जिसके लिए भोपाल से अतुल लोखंडे का हार्ट एम्स के में भेजा गया. दरअसल, 3 जुलाई की शाम मध्य प्रदेश के भोपाल में प्रेमिका के घर में उसके सामने खुद को गोली मारने वाले भारतीय जनता युवा मोर्चा नेता अतुल लोखंडे को डॉक्टरों ने ब्रेन डेड घोषित कर दिया था. जिसके बाद उनके परिवार ने उनके आधा दर्जन से अधिक अंग दान कर दिए.

प्रेम प्रसंग के चलते अतुल ने दी जान
दरअसल, प्रेम प्रसंग के चलते खुद को गोली मारने वाले अतुल लोखंडे का शव परिवार ने अस्पताल प्रबंधन को दे दिया. जिसके बाद अस्पताल में शव की किडनी, लीवर, आँख और लंग्स को डोनेट करने की प्रक्रिया शुरू कर दी. जिसके तहत अंग दान करने के लिए आईजीआई हवाई अड्डे से ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया और भोपाल से हार्ट को दिल्ली के एम्स अस्पताल पहुंचाया गया.

मर कर भी जिंदा रहना चाहता था अतुल
बता दें अतुल के अंग दान करने का निर्णय अतुल की मां सुनंदा लोखंडे का है. अतुल की मां के मुताबिक अतुल ने फेसबुक पर लिखा था कि वह मर कर भी जिंदा रहना चाहता है. अगर हम उसके अंग किसी को दान करते हैं तो उसकी यह अंतिम इच्छा पूरी हो जाएगी. इसलिए हमने अतुल के अंग दान करने का फैसला लिया है.

अतुल के शरीर के सात ऑर्गन डोनेट
बंसल अस्पताल प्रबंधन के मुताबिक अतुल के शरीर के सात ऑर्गन डोनेट किए जाएंगे. जिनमें फेफड़े और हार्ट दिल्ली के एम्स भेजे गए हैं. बाकि आंख, किडनी, , लीवर, स्किन और लंग्स भोपाल के ही मरीजों को डोनेट किया जाएगा. अतुल का लिवर बंसल अस्पताल में ही एक मरीज को डोनेट किया जाएगा. वहीं एक किडनी चिरायु अस्पताल और एक सिद्धांता अस्पताल को भेज दी जाएगी.