मध्यप्रदेश : इस चीज़ में इंदौर प्रथम और जबलपुर द्वितीय स्थान पर

टीकमगढ़ के निमाड़ी तहसील को जिला बनाने के लिए मिली हरी झंडी, बनेगा MP का 52वां जिला

भोपाल मध्यप्रदेश

भोपाल। विधानसभा चुनाव से पहले प्रदेश में जिलों की संख्या 51 से बढ़कर 52 हो सकती है। टीकमगढ़ की निवाड़ी तहसील को नया जिला बनाने की तैयारी पूरी हो गई है। इसमें तीन से पांच तहसीलें शामिल हो सकती हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निवाड़ी को जिला बनाने की घोषणा की थी। नए जिले के गठन को लेकर राजस्व विभाग शुक्रवार को दावे-आपत्ति बुलाने अधिसूचना जारी करने जा रहा है।

2013 में विधानसभा चुनाव के वक्त मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निवाड़ी को जिला बनाने की घोषणा की थी। राजस्व विभाग ने अगस्त 2016 में प्रस्ताव मांगा था। निवाड़ी से भाजपा विधायक अनिल जैन भी लगातार जिला बनाने की मांग करते रहे हैं।

मुख्यमंत्री की घोषणा के मद्देनजर नया जिला बनाने की संभावनाओं पर सर्वे भी कराया गया। राजस्व विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि सभी मैदानी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। अब दावे-आपत्ति बुलाकर अंतिम रूप दिया जाएगा। बताया जा रहा है कि टीकमगढ़ में अभी दस तहसीलें हैं।

इसमें से तीन से पांच तहसीलों को मिलाकर निवाड़ी जिला बनाया जा सकता है। इसमें मोहनगढ़, निवाड़ी और पृथ्वीपुर तहसीलें शामिल बताई जा रही हैं। सूत्रों का कहना है कि यदि सबकुछ ठीक रहा तो विधानसभा चुनाव से पहले निवाड़ी प्रदेश का 52वां जिला बन जाएगा। प्रमुख सचिव राजस्व अरुण पांडे ने एक-दो दिन में अधिसूचना जारी होने और दावे-आपत्ति बुलाए जाने की पुष्टि की।

सिर उठा सकती है अन्य जिला बनाने की मांग

प्रदेश में गंजबासौदा, नसरुल्लागंज और बीना को भी जिला बनाने की मांग काफी समय से उठ रही हैं। गंजबासौदा से विधायक निशंक जैन तो इसको लेकर विधानसभा प्रश्न भी लगा चुके हैं। कई सामाजिक संगठनों ने इसकी मांग भी उठाई है। निवाड़ी के रूप में नया जिला गठित होने पर अन्य जिलों के गठन की मांग भी उठ सकती है।

टीकमगढ़ में हैं पांच विस सीटें

सीट–मौजूदा विधायक

टीकमगढ़– केके श्रीवास्तव (भाजपा)

जतारा– दिनेश कुमार अहिरवार (कांग्रेस)

पृथ्वीपुर– अनीता सुनील नायक (भाजपा)

निवाड़ी– अनिल जैन (भाजपा)

खरगापुर– चंदा सुरेंद्र सिंह गौर (कांग्रेस)