अब ऐसे होंगे मध्यप्रदेश में चुनाव, सभी जिलों के कलेक्टरों को भोपाल में दी जा रही ट्रेनिंग

भोपाल मध्यप्रदेश

भोपाल। मध्य प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारिया शुरू हो गई हैं। इस चुनाव पहली बार सभी विधानसभा क्षेंत्रों में वीवी पैट (वोटर वेरिफायबल ऑडिट ट्रेल) प्रक्रिया अपनाई जाएगी। आगामी चुनाव में नई वर्जन M3 की ईवीएम और वीवी पैट का इस्तेमाल होने जा रहा है। जिला निर्वाचन अधिकारियों को इसी की ट्रेनिंग देने के लिए आज प्रशासन अकादमी में ट्रेनिंग दी जा रही है। वर्कशाप का उद्घाटन मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह ने किया।

– भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर ये ट्रेनिंग कलेक्टरों को दी जा रही है। इसमें सभी को ईवीएम और वीवी पैट की जांच प्रक्रिया की ट्रेनिंग दी जा रही है।

– भोपाल के प्रशासन अकादमी में चल रही इस ट्रेनिंग में ईवीएम बनाने वाली कंपनी भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बेल) बेंगलुरु के जिलों में तैनात ईवीएम कॉर्डिनेटर/सुपरवाईजर भी भाग लेने पहुंचे हैं।

क्या होगा वर्कशाप में

– वर्कशाप में निर्वाचन अधिकारियों को ईवीएम (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन) और वीवी पैट (वोटर वेरिफायबल ऑडिट ट्रेल) की फर्स्ट लेवल चेकिंग की प्रक्रिया की विस्तृत जानकारी दी जायेगी।
– इसमें उप जिला निर्वाचन अधिकारी एफ.एल.सी. (फर्स्ट लेबल चेकिंग) के इंचार्ज के रूप में ट्रेनिंग लेंगे।
– भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड के कुछ इंजीनियर भी इसमें भाग लेंगे।
– भारत निर्वाचन आयोग की ओर से रिसोर्स पर्सन विपिन कटारा (ईवीएम) एवं नेशनल लेवल मास्टर ट्रेनर अतीक अहमद और एनडी परमार भी भाग लेंगे।
– रिसोर्स पर्सन और मास्टर ट्रेनर अधिकारियों को एफएलसी (फर्स्ट लेवल चेंकिग) की प्रक्रिया की सूक्ष्मता से जानकारी देंगे।