मध्यप्रदेश का बजट पेश, जानिए किसको क्या मिली सौगात । 1

मध्यप्रदेश का बजट पेश, जानिए किसको क्या मिली सौगात ।

Madhya Pradesh

भोपाल। कमलनाथ सरकार का पहला पूर्ण बजट  बुधवार को पेश हो गया। वित्त मंत्री तरुण भानोत ने अपना भाषण शुरू कर दिया। शुरुआत में हंगामे के बीच भाषण शुरू किया। इससे पहले कमलनाथ कैबिनेट की बैठक हुई, जिसमें बजट को औपचारिक मंजूरी दे दी गई।

Live Updatas

12.10 PM

तरुण भानोत ने अपना बजट भाषण खत्म किया।

12.01 PM

पर्यटन
जबलपुर में नर्मदा नदी के तट पर रिवर फ्रंट बनाया जाएगा।
डुमना नेचर सफारी का प्रावधान।

11.50 AM
परिवहन
-छह माह में दो हजार किमी सड़क का निर्माण। सड़क के आसपास की शासकीय भूमि
का उपयोग वित्त पोषण के लिए करने पर विचार।
-भोपाल-इंदौर एक्सप्रेस-वे का निर्माण।
-रीजनल कनेक्टिविट के लिए भारत सरकार के साथ एमओयू हुआ। दतिया, रीवा, उज्जैन
और छिंदवाडा़ को वायुसेवा उपलब्ध होगी।

11.49 AM

बिजली
-प्रदेश में बिजली की समस्या भी गंभीर है।
-विद्युत वितरण कंपनियों को अधिक धन उपलब्ध कराना पड़ा है।
-14 हजार 89 मेगावाट की पूर्ति की गई।

11.48 AM
श्रमिकों के लिए नया सवेरा कार्यक्रम।

11.47 AM
छिंदवाड़ा में नवीन विश्विवद्यालय का निर्णय।
झाबुआ में नवीन विश्वविद्यालय शुरू किया गया है।

11.46 AM
आरक्षण
पिछड़ा वर्ग के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण का निर्णय। अल्पसंख्यक कल्याण के लिए भी
हम प्रतिबद्ध है। 821 करोड़ का प्रावधान।

11.45 AM
आदिवासी
-आदिवासियों के एक लाख रुपए तक के ऋण माफ किए गए हैं।
-आदिवासियों के संरक्षण एवं उनके कुल के ग्राम के देवीदेवताओं के लिए मढ़िया,
सामुदायिक भवन निर्माण के लिए आष्ठान योजना प्रारंभ करने का निर्णय।
-कन्या विवाह एवं निकाह में सरकारी सहायता राशि 51 हजार रुपए किया है।
-अजाजजा के लिए छात्रवृत्ति, आवास एवं कौचिंग, विदेश के लिए आर्थिक अनुदान भी
पर्याप्त प्रावधान प्रस्तावित है।

11.44 AM

खेल

-प्रदेश में अंतरराष्ट्रीय स्तर की फुटबॉल अकादमी बनाई जाएगी
-स्वीमिंग अकादमी प्रस्तावित।
-दिव्यांग लोगों के लिए तीन सौ से बढ़ाकर 600 रुपए प्रतिमाह पेंशन का प्रावधान।

-सामाजिक सुरक्षा पेंशन 300 से बढकर 600

शिक्षा
विद्यलयों का युक्तियुक्त करण, शिक्षा को गुणवत्ता पूर्ण बनाने, 83 लाख छात्रों को
छात्रवृत्ति देने का लक्ष्य। विद्यालयों में बिजली, पानी और शौचालय की व्यवस्था।
-स्कूल शिक्षा विभाग के लिए 24 हजार करोड़ का बजट प्रस्तावित।

11.43 AM
स्वास्थ्य

-बैकलॉग के 1065 पद डॉक्टरों के भरे जाएंगे
-स्वास्थ्य अधिकार लागू करेंगे
-जनता को स्वास्थ्य का अधिकार मिलेगा
-मेडिकल में 800 सीटें बढ़ेंगी
प्रदेश के अधिसूचित जनता को चिकित्सा सुविधा नहीं हो पा रही है। योग्य चिकित्सकों
की योजना में मुख्यमंत्री सुशील संजीवनी योजना शुरू करने का प्रस्ताव।
-स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में सीट वृद्धि, वायरल बीमारियों में वायरोलॉजी लैब। इंदौर,
जबलपुर, भोपाल में वर्न यूनिट प्रस्तावित।
-राष्ट्रीय आयुष मिशन के अंतर्गत मंडलेश्वर में आयुष अस्पताल प्रस्ताव।
-गंभीर कुपोषित बच्चों को उससे बचाने के लिए पायलट प्रोजेक्ट।

11. 40 AM
किसानों को ऋण उपलब्ध नहीं हो पा रहा था। हमारी सरकार ने 1 हजार करोड़ रुपए का प्रस्ताव है।

11.36 AM
विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति ने बीच-बीच में हंगामा कर रहे विपक्षी विधायकों को सख्त हिदायद दी। उन्होंने कहा कि टेबलें थपथपाएं, लेकिन व्यवस्था को न बिगाड़ें। यह परंपरा नहीं है। उन्होंने सख्त लहजे में यह भी कहा कि मेरी व्यवस्था पर कोई टिप्पणी नहीं की जाएगी।

11.36 AM
विपक्ष बीच-बीच में रोका-टोकी करने लगे। इससे नाराज हुए विधानसभा अध्यक्ष।

11. 35 AM
किसानों के कर्ज माफ कर दिए गए हैं। बिजली बिल भी आधे कर दिए गए हैं। घरेलू उपभोक्ताओं के लिए इंदिरा ज्योति योजना शुरू की गई है।
-परिषद में विभिन्न क्षेत्रों के कृषकों का प्रतिनिधित्व दिया जाएगा।
-ग्रामीण स्थल पर प्रगतिशील कुशल कृषक उपलब्ध होंगे।

11.33 AM
-चंदेरी एवं महेश्वर की साड़ी, भोपाल के बटुए, रतलाम के सेव, मुरैना की गजक, मालवा के चूरमा लड्डू बुंदेलखंड की मावा जलेबी की देशविदेश में पहचान बनाने के लिए इनकी ब्रांडिंग की जाएगी।

11.31 AM
-शहरी योजनाओं के लिए युवा स्वाभिमान योजना शुरू की गई है। 17 हजार से अधिक युवाओं का प्रशिक्षण प्रारंभ हुआ है। स्वरोजगार के लिए सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों के लिए कार्य किया जा रहा है।

11.30 AM
-प्रदेश में नई औद्योगिक इकाइयों में 70 प्रतिशत मध्यप्रदेश के बेरोजगारों को रोजगार देने का प्रावधान किया।
-सरकार ने कम समय में बड़े फैसले लिए।
-निवेश प्रोत्साहन के लिए आवश्यक व्यवस्था की गई है।
-लैंड पुलिंग पॉलिसी का पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया गया है।
-चार नवीन टैक्सटाइल प्लांट प्रस्तावित है।
-निवेश प्रोत्साहन के लिए जो निर्णय लिए गए हैं उसके रिजल्ट आने लगे हैं।
-प्रदेश में अधिक से अधिक निवेश किया जाएगा।

11.30 AM
भानोत ने घोषणा की कि कोई नया कर नहीं लगाया जाएगा।
भानोत ने एक शेर भी पढ़ा- तेरे पास जो है उसी की कद्र कर यहां आसमान के पास भी जमी नहीं।

11. 25 AM

भानोत ने पूर्ववर्ती सरकार के वित्त मंत्री जयंत मलैया के भाषण का उल्लेख किया, कि उन्होंने कहा था कि हमने कमलनाथ सरकार को खाली खजाना दिया है।

11.30 AM

तरुण भानोत ने कमलनाथ सरकार की उपलब्धियां गिनाईं और पिछली सरकार के कामों की आलोचना की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की कमलनाथ सरकार घोषणा वीर नहीं कर्मवीर है।

11.15 AM
तरुण भानोत ने बजट भाषण शुरू किया। इस दौरान हंगामा भी शुरू हो गया।

11.05 AM

मुख्यमंत्री कमलनाथ, वित्त मंत्री तरुण भानोत समेत कई मंत्री एवं विधायक सदन में पहुंचे। अब पेश होने जा रहा है बजट।

10.50AM

कमलनाथ कैबिनेट की बैठक खत्म। थोड़ी देर में वित्त मंत्री तरुण भानोत सदन में पहुंचेंगे। ठीक 11 बजे प्रस्तुत होगा बजट।

10.30 AM
कैबिनेट बैठक में जाने से पहले वित्त मंत्री ने कहा कि सभी की अपेक्षाओं पर खरा उतरेगा यह बजट।
-कैबिनेट बैठक के बाद 11 बजे बजट भाषण देंगे वित्त मंत्री तरुण भानोत।

10.15 AM
किसान कर्ज माफी कई मुद्दों पर चर्चा जारी है।

10.00 AM
कमलनाथ कैबिनेट की बैठक शुरू। बजट को औपचारिक मंजूरी दी गई।

9.45 AM
कमलनाथ समेत कैबिनेट के सभी मंत्री पहुंच गए।

9.30 AM
वित्त मंत्री तरुण भानोत अपने घर से रवाना हुए।
पेश किया जाएगा। ( finance minister tarun bhanot ) वित्त मंत्री तरुण भानोत यह बजट पेश करेंगे। इस बार कमलनाथ सरकार का बजट अहम होगा, क्योंकि पांच दिन पहले ही केंद्र सरकार ने आम बजट पेश किया था। इस बजट में मुख्यमंत्री कमलनाथ की सोशल इंजीनियरिंग की झलक देखने को मिल सकती है।वहीं वचन पत्र के कई वायदों को भी इस बजट में शामिल किया जा सकता है।

बजट में क्या-क्या
-मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार राइट-टू-वाटर और राइट-टू-हेल्थ के लिए न्यूनतम सुविधाओं की गारंटी देगी।
-सामाजिक सुरक्षा से जुड़ी योजनाओं के लिए भी इस बजट में राशि बढ़ाना प्रस्तावित है।
-इस बजट को वास्तविकता पर आधारित बनाने पर जोर दिया गया है। इसके लिए कई अधिकारी महिनों से जुटे हुए थे।
-इस बजट के लिए मुख्यमंत्री वित्तमंत्री को स्पष्ट हिदायत दे चुके हैं कि यह बजट आंकड़ों की बाजीगरी वाला नहीं हो। इसमें ऐसा कोई सब्जबाग भी नहीं दिखाया जाएगा, जो जमीनी सच्चाइयों से दूर हो।
-कमलनाथ सरकार के बजट कांग्रेस के वचन-पत्र को प्राथमिकता दी जा रही है। उन सभी चीजों को पहले चरण में शामिल किया गया है, जिन पर सरकार काम शुरू कर चुकी है।
-इस बजट में सरकार अगले पांच सालों का रोडमैप भी बता सकती है।

सामाजिक सुरक्षा के लिए उठाए गए कदमों के प्रावधान बजट में शामिल रहेंगे। बैंड बजाने वालों को प्रशिक्षित किए जाने के लिए भी वित्तीय इंतजाम किया जाएगा। वहीं, कर्जमाफी के लिए भी पर्याप्त राशि रखी गई है। इसके दूसरे चरण में एक लाख रुपए का नियमित खातों का कर्जमाफ किया जाना है।

अक्टूबर में इंदौर में होने वाली इनवेस्टर्स समिट के लिए भी बजट आवंटित किया जाएगा। नगरीय विकास, ग्रामीण विकास, कृषि, सहकारिता, पशुपालन, चिकित्सा शिक्षा, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, औद्योगिक विकास और बिजली के लिए पर्याप्त राशि रखी जा रही है।

20 फरवरी 2019 को पेश हुआ था अनुपूरक बजट
इससे पहले 20 फरवरी को कमलनाथ सरकार की ओर से वित्त मंत्री तरुण भानोत ने मध्‍यप्रदेश विधानसभा में अनुपूरक और लेखा अनुदान पारित किया था। इसी सत्र में सरकारी कर्मियों का महंगाई भत्ता अब 9 से बढ़ाकर 12 फीसदी कर दिया गया था। नई दर 1 जनवरी 2019 से प्रभावी हो गई थीं।

Facebook Comments
Please Share this Article, Follow and Like us:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •