मध्यप्रदेश : मानसून सत्र के दूसरे दिन भी हुआ हंगामा, जमकर हुई नारेबाजी

मध्यप्रदेश

भोपाल : विधानसभा में मानसून सत्र की दूसरे दिन भी हंगामेदार शुरूआत हुई। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान विधानसभा में पेश सात में से दो विधयकों पर विवाद शुरू हुआ। साथ ही कांग्रेस ने मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित मीसा बंदियों के सम्मान के विरोध में जमकर हंगामा किया और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। दोपहर तक हंगामा इतना बढ़ गया कि अध्यक्ष ने इसे ही मुद्दा बनाते हुए सदन को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया। इस तरह शिवराज सरकार का यह अंतिम सत्र भी समाप्त हो गया। हालांकि यह सत्र केवल दो दिन तक ही चलाया गया।

नारेबाजी थमती न देख अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही 10 मिनट के लिए स्थगित भी कर दी थी। अनुपूरक बजट पर चर्चा होनी है लेकिन जब सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू हुई तो भी हंगामा खत्म नहीं हुआ। कार्यवाही के दौरान नरोत्तम मिश्रा की रामनिवास रावत और गोविंद सिंह से तीखी नोक झोंक भी देखी गई। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह का कहना है सत्तापक्ष की मंशा पांच दिन के सत्र को भी बीच में खत्म करने की है। अजय सिंह की इस बात पर मुहर भी लग गई। अविश्वास प्रस्ताव पर कांग्रेस को बसपा का साथ मिला है। जब प्रश्नकाल के दौरान भी एक सवाल नहीं हुआ तो स्पीकर को मजबूरन दोबारा कार्यवाही को आधे घंटे के लिए स्थगित करना पड़ा।