राज्यसभा में जेटली की जगह थावरचंद गहलोत होंगे बीजेपी के नेता, विंध्य से सांसद गणेश सिंह को मिली बड़ी जिम्मेदारी 1

राज्यसभा में जेटली की जगह थावरचंद गहलोत होंगे बीजेपी के नेता, विंध्य से सांसद गणेश सिंह को मिली बड़ी जिम्मेदारी

Madhya Pradesh

भोपाल. मध्यप्रदेश से जीतकर गए सांसदों में से कई को मोदी सरकार कैबिनेट में अहम मंत्रालय दिया है। अब मध्यप्रदेश के ही राज्यसभा सांसद थावरचंद गहलोत को पार्टी ने राज्यसभा में सदन का नेता बनाया है। थावरचंद गहलोत से पहले राज्यसभा में सदन के नेता अरुण जेटली थे।

अब बीजेपी संसदीय कार्यसमिती की जो सूची जारी हुई। उसमें लोकसभा में प्रधानमंत्री मोदी सदन के नेता होंगे। वहीं, राज्यसभा में थावरचंद गहलोत को यह जिम्मेवारी मिली है। इसके साथ ही पीयूष गोयल राज्यसभा में बीजेपी के उपनेता होंगे। इसके लिए पार्टी ने सूची जारी कर दी है।

गणेश सिंह को भी मिली जगह
मध्यप्रदेश के सतना से बीजेपी सांसद गणेश सिंह को भी बीजेपी के संसदीय कार्यसमिति में जगह मिली है। गणेश सिंह लोकसभा में संसदीय कार्यसमिति के सचिव होंगे। गणेश सिंह चौथी बार सतना से सांसद बने हैं।

ganesh singh

कौन हैं थावरचंद गहलोत
बीजेपी के राज्यसभा सांसद थावरचंद गहलोत मध्यप्रदेश के कद्दावर नेता हैं। उनका जन्म 18 मई 1948 को हुआ है। वे उज्जैन जिले के नागदा के रहने वाले हैं। मोदी सरकार वन में भी ये केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री थें। इस बार फिर उन्हें मोदी कैबिनेट में जगह मिली है। थावरचंद गहलोत मजबूती के साथ सदन में पार्टी का पक्ष रखते हैं। इसके साथ ही पीएम मोदी के गुडबुक में भी हैं।

पहली कुर्सी पर बैठेंगे गहलोत
अरुण जेटली बीमार हैं, इसलिए पार्टी ने राज्यसभा में थावरचंद गहलोत पर भरोसा जताया है। गहलोत सदन में पहली कुर्सी पर बैठेंगे जो चेयरमैन की सीट के दाईं ओर है। उनके बाद पीएम मोदी की सीट है। थावरचंद गहलोत बीजेपी का दलित चेहरा हैं।

चुनाव हार गए थे गहलोत
2009 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के सज्जन सिंह वर्मा से थावरचंद गहलोत चुनाव हार गए थे। उसके बाद पार्टी ने 2012 में इन्हें राज्यसभा सांसद बनाया। 2018 में इन्हें फिर से राज्यसभा भेजा गया, इनका कार्यकाल 2024 में खत्म होगा।

Facebook Comments
Please Share this Article, Follow and Like us:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •