MP विधानसभा मानसून सत्र : कांग्रेस ने पेश किया अविश्वास प्रस्ताव

मध्यप्रदेश

भोपाल। कांग्रेस ने आज से शुरू हुए मध्यप्रदेश विधानसभा के मानसून सत्र में अविश्वास प्रस्ताव पेश कर दिया। सरकार के खिलाफ ये प्रस्ताव कांग्रेस के धाकड़ विधायक रामनरेश रावत ने पेश किया। रावत ज्योतिरादित्य सिंधिया के खास माने जाते हैं और उन्होंने सरकार के खिलाफ सबसे ज्यादा सवाल उठाए हैं।

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश विधानसभा का आगामी 5 दिवसीय सत्र सोमवार से शुरू हुआ। कांग्रेस द्वारा पहले ही इस सत्र में अविश्वास प्रस्ताव लाने की घोषणा कर विधानसभाध्यक्ष को सूचना दे दी थी। इसी पर अमल करते हुए कांग्रेस विधायक रामनरेश रावत ने सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरण शर्मा अब इस प्रस्ताव का परीक्षण कर निर्णय लेंगे।

कांग्रेसी विधायकों ने सुबह विधानसभा में प्रवेश करते ही अपने आक्रामक रुख जाहिर कर दिए थे। वे नारेबाजी करते हुए विधानसभा में घुसे थे। विभिन्न मुद्दों पर घेरते हुए कांग्रेस ने भाजपा सरकार से पिछले 5 सालों का हिसाब मांगा। इसके अलावा कांग्रेस ने सरकार को घेरने के लिए मुख्य रूप से ई-टेंडरिंग घोटाला, कुपोषण की स्थिति, महिला अपराध, किसानों की आत्महत्या, नर्मदा सेवा यात्रा और प्याज घोटालों को उठा रही है। इसके अलावा प्रदेश पर लगातार बढ़ते कर्ज के मुद्दे को भी अविश्वास प्रस्ताव में शामिल किया गया है।

कांग्रेस ने सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश करने के अलावा मानसून सत्र की अवधि बढ़ाने की भी मांग की है। आपको बता दें कि इस बार का सत्र 25 से 29 जून तक चलेगा। 5 दिवसीय इस सत्र में 5 बैठकें होना है। सरकार विधानसभा में अनुपूरक बजट भी रखेगी। कांग्रेस इस सत्र को पूरी तरह भुनाने की कोशिश में है क्योंकि इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनावों के पहले यह सत्र मौजूदा विधानसभा का अंतिम सत्र है।
अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा को लेकर विधानसभा में चर्चा शुरू हुई तो संसदीय कार्य मंत्री ने कहा विपक्ष के प्रस्ताव में कोई दम नहीं वहीं कांग्रेस के नेताओं ने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा कराई जाए। नियमों का विषय उठाते हुए डॉ. गौरीशंकर शेजवार ने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव के आरोप पर नेता प्रतिपक्ष के हस्ताक्षर ही नहीं है, ऐसे में प्रस्ताव कानूनी रूप से अवैध है।

नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने आरोप लगाया कि सरकार चर्चा से भाग रही है। सरकार अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा कराए। उन्होंने कहा कि हम अविश्वास प्रस्ताव के माध्यम जनता के बीच में जाएंगे और ये सिर्फ छपने के लिए नहीं है।

कांग्रेस विधायक दल के मुख्य सचेतक रामनिवास रावत ने अविश्वास प्रस्ताव की स्वीकार्यता को लेकर चर्चा की शुरुआत की।

इधर कांग्रेस विधायकों ने सदन में मंदसौर गोलीकांड में मारे गए किसानों वाले पोस्टर लहराए। कांग्रेस विधायक हरदीप सिंह डंग पूरे समय शरीर पर मंदसौर गोलीकांड की जांच रिपोर्ट पर चर्चा कराने संबंधी मांग का पोस्टर लगाए रहे।