पांच लड़कों ने Video बनाने के नाम पर किया परेशान, छात्रा ने उठा लिया ऐसा कदम 1

पांच लड़कों ने Video बनाने के नाम पर किया परेशान, छात्रा ने उठा लिया ऐसा कदम

Indore Crime Madhya Pradesh

इंदौर। 10वीं की छात्रा को पांच आरोपितों ने इतना परेशान किया कि उसने स्कूल जाना छोड़ दिया। घर से नाना-नानी के पास रहने चली गई। आरोपितों ने अश्लील वीडियो और फोटो बनाने की धमकी दी तो छात्रा ने सुसाइड नोट लिखा और फांसी लगाने का प्रयास किया। पुलिस ने शनिवार रात एक महिला सहित छह लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर कोरियर कंपनी के कर्मचारी को गिरफ्तार कर लिया।

घटना द्वारकापुरी थाना क्षेत्र के प्रजापत नगर में शुक्रवार शाम को हुई। 16 वर्षीय युवती शनिवार रात मां व मामा के साथ थाने पहुंची और आरोपित तरुण भीमवार अशटकर, विशाल पाल, यशवंत पाल, सचिन मौर्य, बब्बू और सीमाबाई अशटकर के खिलाफ मारपीट, छेड़छाड़ व पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज करवाया। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि वह 10वीं में पढ़ती है। करीब सात महीने से आरोपित उसे परेशान कर रहे हैं। स्कूल-कोचिंग जाते वक्त बुलेट से चक्कर लगाकर अश्लील बातें करते हैं। एक लड़का उससे भाभी बोलकर बात करने का दबाव बनाता है। उसने कहा कि अश्लील फोटो बनाकर अखबार में छपवा देगा। उसकी रिकॉर्डिंग और वीडियो वायरल कर बदनाम कर देगा। छात्रा घबरा गई और स्कूल जाना छोड़ दिया। डर के कारण नाना-नानी के पास छत्रीपुरा रहने चली गई।

आरोपित की मां ने गला दबाया, बाल खींच चौराहे पर पीटा
पीड़िता की मां के मुताबिक उनकी दुकान है। वह दो दिन पहले कोटा (राजस्थान) गई थी। बेटी छोटी बहन के साथ दुकान पर बैठी थी। आरोपित तरुण की मां सीमा दुकान पर आई और बेटी को धमकाया। बेटी ने कहा कि ज्यादा परेशान किया तो मैं मर जाऊंगी। सीमा ने उसका गला दबाया और कहा कि मैं ही तूझे मार देती हूं। उसने बाल पकड़कर खींचे और पिटाई करते हुए कहा कि तेरा बलात्कार करवा दूंगी। सीमा के साथ आए विशाल पाल ने जान से मारने और अपहरण की धमकी दी। मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई। छात्रा ने डर के कारण किसी को भी घटना नहीं बताई। पड़ोसियों ने उसकी मां को कॉल किया और वाकया बताया। छात्रा की मां शनिवार को इंदौर पहुंची और रिपोर्ट लिखवा दी। आरोपित बब्बू यहां भी आ गया और धमकाने लगा।

सुसाइड नोट लिख साड़ी का फंदा बनाया, मामी ने देखा और बचाया
छात्रा बदनामी के कारण आत्महत्या का प्रयास करने लगी। शुक्रवार रात वह नानी के घर पर थी। उसने दो पन्नो के सुसाइड नोट में लिखा कि मैं सात महीने से परेशान हो रही हूं। मुझे बदनाम किया जा रहा है। मोहल्ले में भाभी बोलकर चिढ़ाते हैं। अब मैं जीना नहीं चाहती हूं। वह साड़ी का फंदा बनाकर आत्महत्या करने वाली थी कि उसकी मामी कमरे में आ गई। मानी ने उससे साड़ी छीनी और परिजन को घटना बताई। पुलिस ने सभी के खिलाफ केस दर्ज कर कोरियर कंपनी में काम करने वाले तरुण अशटकर को पकड़ लिया।

Facebook Comments
Please Share this Article, Follow and Like us:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •