रीवा: उद्योग मंत्री ने किया सोलर प्लांट में बिजली उत्पादन का शुभारम्भ, 15 सितम्बर को PM मोदी करेंगे उद्घाटन

रीवा: उद्योग मंत्री ने किया सोलर प्लांट में बिजली उत्पादन का शुभारम्भ, 15 सितम्बर को PM मोदी करेंगे उद्घाटन

मध्यप्रदेश रीवा

रीवा जिले के गुढ़ में स्थापित विश्व के सबसे बड़े सोलर पावर प्लांट में बिजली उत्पादन का गुरुवार को उद्योग मंत्री राजेंद्र शुक्ल और सांसद जनार्दन मिश्र ने बटन दबाकर शुभारंभ किया। फिलहाल प्लांट की यूनिट क्रमांक 1 में 5 मेगावाट बिजली का उत्पादन शुरू किया गया है। जबकि 15 सितंबर तक प्लांट से 500 मेगावाट बिजली का उत्पादन शुरू हो जाएगा। जिसका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विधिवत उद्घाटन करेंगे। बताया गया है कि रीवा के सोलर प्लांट से तैयार होने वाली बिजली से मध्यप्रदेश की परियोजनाओं को अगले 25 साल में 2086 करोड़ और दिल्ली मेट्रो को 1220 करोड़ रुपए का फायदा होगा।

यह देश की पहली और अब तक की एक मात्र सोलर पार्क परियोजना है, जिसे विश्व बैंक से आर्थिक सहायता प्राप्त हुई है और उत्पादित बिजली का विक्रय ओपन एक्सेस उपभोक्ता दिल्ली मेट्रो को किया जाएगा। 750 मेगावॉट बिजली उत्पादन करने वाले इस परियोजना में न्यूनतम दर 2.97 रुपए प्रति यूनिट का टेरिफ मिलेगा। यह कोयला एवं अन्य श्रोतों द्वारा तैयार बिजली के टैरिफ से भी कम है। उद्योग मंत्री ने कहा कि पूरा प्रयास किया जा रहा है कि यह परियोजना समय पर मूर्तरूप ले और प्रधानमंत्री के हाथों इसका शुभारंभ हो सके।

आज का दिन है अविस्मरणीय

अल्ट्रा मेगा सौर परियोजना के यूनिट क्रमांक-1 में बिजली उत्पादन शुरू होने पर प्रदेश के उद्योग व खनिज मंत्री राजेन्द्र शुक्ला ने कहा कि आज का दिन रीवा और विंध्य के लिए अविस्मरणीय है। इसकी सफलता के लिए परियोजना से जुड़े लोग बधाई के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि इस बिजली उत्पादन से अब विश्वास बढ़ा है कि इससे बनने वाली 5 मेगावॉट बिजली मप्र पॉवर मैनेजमेंट कंपनी को जा रही है। आने वाले समय में दूसरी इकाईयां भी बिजली का उत्पादन शुरू कर देंगी।

दो और यूनिटें जल्द शुरू होंगी

उन्होंने कहा कि गुढ़ की यह जमीन सोलर प्लांट के लिए सबसे उपयुक्त जगह थी और प्रदेश के मुख्यमंत्री के सहयोग तथा विभागीय अधिकारियों की मेहनत से 750 मेगावॉट सौर ऊर्जा का प्लांट लगाया गया है। जिसमें अब बिजली का उत्पादन भी शुरू हो गया है। कार्यक्रम के दौरान बताया गया कि आने वाले समय में यूनिट क्रमांक 2 जयपुर सोलर पावर प्रालि तथा यूनिट क्रमांक 3 एरिसन क्लीन एनर्जी प्रा.लि. द्वारा भी अपनी-अपनी यूनिट में बिजली उत्पादन प्रारंभ कर दिया जायेगा। जबकि महेन्द्रा कंपनी ने 5 मेगावॉट बिजली का उत्पादन शुरू कर दिया है।

डढ़वा से प्रारंभ होगा विकास

कार्यक्रम के दौरान उद्योग मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा कि परियोजना इकाइयों द्वारा क्षेत्र विकास के कार्य कराए जाएंगे। इसकी शुरूआत डढ़वा गांव से होगी। इसके बाद अन्य गांव भी कार्ययोजना में शामिल किये जाएंगे जिनकी भूमि का अधिग्रहण परियोजना निर्माण के लिए किया गया है। कार्यक्रम के दौरान ऊर्जा विकास निगम के जिला अक्षय ऊर्जा अधिकारी एसएस गौतम, कंपनी के इन्चार्ज विजय सिंह, मयंक पाण्डेय, पारिजात देशमुख व खालिद हबीब आदि आदि मौजूद रहे।

Tagged