लोकसभा चुनाव में भाजपा का एक सर्वे पूरा, रीवा से जनार्दन मिश्र की गई ये रिपोर्ट, पढे MP की रिपोर्ट1 min read

Madhya Pradesh Rewa

सतना। तीन प्रदेशों में विधानसभा के विपरीत नतीजों के बाद अब भाजपा ने लोकसभा चुनाव की तैयारी अभी से शुरू कर दी है। केंद्रीय नेतृत्व ने सांसदों के कार्य और लोकप्रियता की स्थिति जानने एक स्तर का सर्वे पूरा करा लिया है। इसके आंकड़े भी पहुंच चुके हैं, जिस पर राष्ट्रीय परिसद की बैठक में मंथन होने की पूरी संभावना है। हालांकि मध्यप्रदेश में हुए विधानसभा चुनावों में विंध्य में भाजपा का प्रदर्शन बेहतर रहा है। इसलिए वह यहां लोकसभा चुनाव में भी कोई रिस्क नहीं लेना चाहेगी।

चुनाव के मद्देनजर भाजपा का मुख्य फोकस विन्ध्य और बुन्देलखण्ड में ही माना जा रहा है। प्राथमिक सर्वे में विंध्य से जो आंकड़े सामने आए हैं वह काफी चौंकाने वाले माने जा रहे हैं। कई सीटों पर अब दोहराव पर संशय की स्थिति भी बन रही है। भाजपा के सूत्रों ने बताया, रीवा, सीधी, शहडोल, सतना और खजुराहो का जो रिपोर्ट कार्ड ऊपर तक पहुंचा है उसमें रीवा की सीट का रिपोर्ट कार्ड बेहतर नहीं आया है।

यहां से जनार्दन मिश्र के दोहराव पर पार्टी नेतृत्व गंभीरता से विचार कर सकता है। जो रिप्लेसमेंट कैरेक्टर माना जा रहा है उसमें युवा मोर्चा के राष्ट्रीय महासचिव गौरव तिवारी का नाम प्रमुख है। गौरव के पक्ष में संघ और संगठन की राय भी सकारात्मक पाई गई है। सीधी की स्थिति अपेक्षित तौर पर बेहतर मानी गई है। फिर भी शेष दो सर्वे में अगर स्थितियों में कोई परिवर्तन होता है तो पार्टी को यहां से दूसरा नाम खोजना एक चैलेंज होगा। क्योंकि फिर पार्टी को यहां से नया और प्रभावी चेहरा खोजना होगा।

सतना में कांग्रेस के बाद ही फैसला
सतना से गणेश सिंह की स्थिति न बहुत अच्छी और न ही बहुत खराब मिली है। पर यहां भी संशय की स्थिति है। पार्टी सतना सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी की संभावना पर ही अंतिम निर्णय लेगी। पार्टी सर्वे में जो रिपोर्ट सामने आई है उसमें यह माना गया है कि यहां का प्रत्याशी या तो पिछड़ा अथवा ब्राह्मण वर्ग से ही बेहतर होगा। ऐसे में नारायण त्रिपाठी के नाम पर भी विचार हो सकता है, लेकिन प्रदेश में सरकार की स्थिति को देखते हुए विधायकों को लोस लड़ाने के पक्ष में केन्द्रीय नेतृत्व कम ही नजर आ रहा है। हालांकि स्थितियों के अनरूप निर्णयों में फेरबदल की भी संभावना हो सकी है।

टटोली जाएगी नब्ज
भाजपा की राष्ट्रीय परिषद में इन सर्वे परिणामों के आधार पर आगामी लोक सभा चुनावों के मद्देनजर नब्ज टटोले जाने की पूरी संभावना है। चूंकि 2014 लोकसभा चुनावों में विन्ध्य में भाजपा का प्रदर्शन बेहतर रहा है और इस बार के विधानसभा चुनावों में भी पार्टी ने बेहतर प्रदर्शन किया है ऐसे में आगामी लोक सभा चुनाव के लिये केन्द्रीय नेतृत्व विन्ध्य के मामले में पहले निर्णय लेने की कोशिश करेगा ताकि यहां और बेहतर की तैयारी ज्यादा दम से हो सके। हालांकि इसके लिए पार्टी अभी अपने दो और सर्वे के नतीजे भी देखेगी और उसके बाद अंतिम निर्णय लेगी।

खजुराहो में जोड़-तोड़, शहडोल सेफ
शहडोल का रिपोर्ट कार्ड ठीक रहा है। ऐसे में यहां फिलहाल वर्तमान सांसद सेफ जोन में माने जा रहे हैं। खजुराहो सीट को लेकर जरूर दावेदारी की जोड़तोड़ अभी से शुरू हो गई है। यहां से डॉ भरत पाठक की ओर से लॉबिंग शुरू हो गई है तो पन्ना जिलाध्यक्ष सदानंद गौतम का नाम भी दावेदारी में आ रहा है। लेकिन इनके साथ रामकृ ष्ण कुसमरिया का नाम जुडऩे से सकारात्मकता की स्थिति नजर नहीं आ रही है।

Facebook Comments