मध्यप्रदेश

MP के 1171 गांव बाढ़ की चपेट में : PM Modi ने CM Shivraj से ली जानकारी, मदद के लिये भेजे गए हैलीकॉप्टर और सेना

Aaryan Dwivedi
3 Aug 2021 5:08 PM GMT
MP के 1171 गांव बाढ़ की चपेट में : PM Modi ने CM Shivraj से ली जानकारी, मदद के लिये भेजे गए हैलीकॉप्टर और सेना
x
MP के 1171 गांव बाढ़ की चपेट में : भोपाल। प्रदेश के ग्वालियर एवं चंबल क्षेत्र में बारिश अब कहर बन रही है तो बाढ़ ने विकराल रूप धारण कर लिया है। लगातार बारिश होने के कारण शिवपुरी, दतिया, श्योपुर सहित अन्य जिलों के 1171 गांव बाढ़ की भयंकर चपेट में है। क्षेत्र की नदियां उफन पर होने के कारण कई गांवो का संपर्क टूट गया है। पीएम मोदी ने सीएम शिवराज सिंह चौहान से बाढ़ के सम्बन्ध में जानकारी ली है, साथ ही हर संभव मदद के लिए आश्वस्त किया है।

MP के 1171 गांव बाढ़ की चपेट में : भोपाल। प्रदेश के ग्वालियर एवं चंबल क्षेत्र में बारिश अब कहर बन रही है तो बाढ़ ने विकराल रूप धारण कर लिया है। लगातार बारिश होने के कारण शिवपुरी, दतिया, श्योपुर सहित अन्य जिलों के 1171 गांव बाढ़ की भयंकर चपेट में है। क्षेत्र की नदियां उफान पर होने के कारण कई गांवो का संपर्क टूट गया है। पीएम मोदी ने सीएम शिवराज सिंह चौहान से बाढ़ के सम्बन्ध में जानकारी ली है, साथ ही हर संभव मदद के लिए आश्वस्त किया है।

पीएम मोदी ने मदद का दिया भरोसा

प्रदेश में आई बाढ़ की स्थित से एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने फोन पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अवगत कराया है। जिस पर प्रधानमंत्री श्री मोदी ने न सिर्फ हर संभव मदद का भरोसा दिया है बल्कि एयर फोर्स के हेलीकाप्टर सहित सेना को मदद के लिये एमपी में भेजा है।

पेड़ पर चढ़े है बाढ़ में फंसे लोग

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने जानकारी देते हुये बताया है कि शिवपुरी में सबसे ज्यादा स्थित खराब है। वही मौसम बिगड़ने के कारण मदद कार्य में समस्या आ रही है। बताया जा रहा है बाढ़ में फंसे लोग पेड़ पर चढ़ गये है। उन्हे निकालने के लिये एयर फोर्स के हेलीकाप्टर को बुलाया गया है।

लगाये गये 5 हैलीकॉप्टर

सीएम शिवराज ने बताया कि अब तक बाढ़ में फंसे 1600 लोगो को निकाला गया है। बचाव के लिये एयर फोर्स के 5 हैलीकॉप्टर लगाये गये है। वहीं सेना को भी बुलाया गया। जबकि NDRF की टीम के साथ मोटरबोट की मदद से लोगो को निकाला जा रहा है।

और बिगड़ेगे हालात

जानकारी के तहत ग्वालियर-चंबल क्षेत्र का डैम भी फुल हो गया है। जिसके चलते डैम का पानी छोड़ा जा रहा है। डैम का पानी क्षेत्र में और तबाही मचायेगा, हांलाकि स्थानीय प्रशासन ऐसे क्षेत्रों से लोगो को हटा कर उन्हे राहत शिविर एवं ऊँचे स्थानों पर पहुंचा रहा है।

40 वर्ष का टूटा रिकार्ड

एमपी में बारिश ने 40 वर्ष का रिकार्ड तोड़ दिया है। बताया जा रहा पिछले 4 दिनों से लगातार बारिश होने के चलते औसत से काफी ज्यादा बारिश अब तक में हुई है। यही वजह है कि ग्वालियर-चंबल क्षेत्र के नदी नाले न सिर्फ उफान पर है बल्कि नदियों का पानी गांव तथा घरो में धुस गया है। जिस तरह से मौसम का मिजाज बना हुआ है उससे मौसम खुलने के आसर नजर नही आ रहे है। इससे बचाव राहत कार्य में भी समस्या आ रही है।

Next Story
Share it