कार्तिक पूर्णिमा का बन रहा शुभ योग, देवता भी तोड़ेगे अपनी निद्रा

कार्तिक पूर्णिमा का बन रहा शुभ योग, देवता भी तोड़ेगे अपनी निद्रा

लाइफस्टाइल

कार्तिक पूर्णिमा का बन रहा शुभ योग, देवता भी तोड़ेगे अपनी निद्रा

पूर्णिमा। 30 नवंबर को रोहिणी नक्षत्र के साथ सर्वसिद्धि योग एवं वर्धमान योग का संयोग होने से इस पूर्णिमा का शुभ योग बन रहा है। पूर्णिमा तिथि की शुरूआत 29 नवंबर को दोपहर 12ः47 से प्रारंभ होकर 30 नवंबर को दोपहर 2ः59 तक रहेगी। इसी दिन कार्तिक स्नान का समापन भी होगा।

पूर्णिमा की ऐसे होती है संख्या 13

कार्तिक पूर्णिमा का स्नान हिंदू धर्म में पूर्णिमा महत्वपूर्ण स्थान रखती है प्रत्येक वर्ष में 12 पूर्णिमा आती हैं लेकिन जब अधिक मास या मलमास आता है तो इनकी संख्या 13 हो जाती है। ज्योतिषाचार्य के अनुसार इस दिन जब चंद्रमा आकाश में उदित होता है उस समय चंद्रमा की 6 कृतिकाओं का पूजन करने से शिवजी की प्रसन्नता प्राप्त होती है। इस दिन गंगा नदी में स्नान करने से पूरे वर्ष का स्नान करने का फल मिलता है।

मध्यप्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने के लिये गोधन का उपयोग किया जाएगा: शिवराज सिंह

जगेगे देवता

कार्तिक पूर्णिमा पर भगवान विष्णु चतुर्मास के बाद जगेगे। भगवान विष्णु ने इसी तिथि को मस्य अवतार लिया था और मत्स्य अवतार लेकर सृष्टि की फिर से रचना की थी।

कई तरह से इस तिथि का है महत्वं

शास्त्रो के अनुसार राक्षस त्रिपुरासुर का संघार भगवान ने किया था। त्रिपुरासुर वध को लेकर देवताओं ने इस दिन देव दीपावली मनाई थी, सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक जी का जन्मदिन के साथ ही तुलसी का अवतरण कार्तिक पूर्णिमा के दिन ही हुआ था।

दीप दान करने से मां लक्ष्मी होगी प्रसन्न

कार्तिक पूर्णिमा के दिन तुलसी के समीप तथा तालाब में, सरोवर में, गंगा तट पर दीप जलाने से अथवा दीप दान करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होकर सुख समृद्धि का वरदान देती हैं। वही विष्णु को तुलसी पत्र की माला और गुलाब का फूल चढ़ाने से मन की सारी मुरादें पूरी होती हैं।

कार्तिक पूर्णिमा पर तिल जल में डालकर स्नान करने से शनि दोष समाप्त होंगे खासकर शनि की साढ़ेसाती वही कुंडली में पित्र दोष चांडाल दोष नदी दोष की स्थिति यदि है तो उसमें भी शीघ्र लाभ होगा।

यहाँ क्लिक कर RewaRiyasat.Com Official Facebook Page Like

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *