मृत्यु के बाद कहां चली जाती है आत्मा, ये है इसका जवाब, पढ़िए

मृत्यु के बाद कहां चली जाती है आत्मा, ये है इसका जवाब, पढ़िए

लाइफस्टाइल

मृत्यु के बाद कहां चली जाती है आत्मा, ये है इसका जवाब, पढ़िए

मृत्यु के बाद आखिर हमारी आत्मा कहां जाती है, उसके साथ क्या होता है ये सभी बातें एक रहस्य हैं. विज्ञान ने वैसे तो बहुत प्रगति की है लेकिन इस विषय पर वो भी कोई सटीक जवाब नहीं दे पाता. विज्ञान कहता है कि जिस तरह दुनिया की तमाम जड़ और चेतन वस्तुओं में धीरे-धीरे क्षय होता है, उसी तरह मानवीय शरीर में भी ऐसा ही होता है.

जब 30 साल की शादीशुदा महिला को पता चला वह मर्द है, पढ़ें हैरान करने वाली खबर

इस विषय पर अब ज़रा गायत्री परिवार के संस्थापक पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य की किताब में क्या लिखा है वो भी जान लेते हैं. किताब में कहा गया है कि शरीर से निकलने के बाद आमतौर पर आत्माएं कुछ समय तक विश्राम की स्थिति में होती है और फिर नया जन्म लेती हैं. पारलौकिक विज्ञान भी कुछ ऐसा ही तर्क देता है.

प्राचीन बेबीलोन और मिस्र में मौत के बाद शव को खास लेप लगाकर ताबूत में रखकर दफनाया जाता था. माना जाता था कि एक समय बाद आत्मा फिर पुराने शरीर में वापस लौट आएगी, जिसका कोई प्रमाण कभी नहीं मिला.

SEX से फ़ैल सकता है ये खतरनाक वायरस, जिसका कोई भी नहीं इलाज़, पढ़ लीजिए जरूरी खबर

परमहंस योगानंद की लोकप्रिय आत्मकथा योगी कथामृत में उन्होंने अपने आध्यात्मिक गुरु श्रीयुक्तेश्वरजी के हवाले से लिखा है कि मृत्यु के बाद पृथ्वी के सभी वासियों को सूक्ष्मलोकों में जाना होता है. वहां से आध्यात्मिक दृष्टि उन्नत वासियों को फिर हिरण्यलोक भेजा जाता है. वहां जाने वाले बार-बार के पुनर्जन्मों से मुक्ति पा जाते हैं. इस किताब का दुनियाभर की 20 भाषाओं में अनुवाद हो चुका है.

कई बार कुछ ऐसे भी उदाहरण सामने आए हैं जब किसी मरीज़ की दिल की धड़कनें कुछ क्षणों या घंटों के लिए रुक जाती हैं, फिर चालू हो जाती हैं. कुछ मामलों में तो ऐसे भी हुआ कि दिल की धड़कनें 48 घंटों के लिए रुक गईं और फिर आश्चर्यजनक ढंग से दोबारा धड़कना शुरू कर दिया.

मृत्यु के बाद आत्मा के अस्तित्व को लेकर भी अगल-अलग धारणाएं हैं. कुछ तो इसके किसी अस्तित्व से इनकार करते हैं तो कुछ कहते हैं कि आत्मा का अस्तित्व तभी तक है जब तक की मानवीय शरीर ज़िन्दा है. मौत के बाद आत्मा का भी अंत हो जाता है.

किसे मिलेगा धोखा और किसे बेइंतहा प्यार, नाम के पहले अक्षर से जानें

गीता में भगवान श्रीकृष्ण कहते हैं कि आत्मा अनंत, अजर और अमर है, ये कभी नहीं मरती. ऋगवेद में लिखित प्रार्थनाओं में आत्मा के होने को माना गया है.

वेदों में भी मृत्यु के उपरांत आत्मा के अमर होने की बात लिखी गई है. हालांकि विज्ञान के पास इन बातों का कोई सटीक जवाब नहीं है और ये अभी तक रहस्य ही बना हुआ है. 

सौजन्य। . NEWS 18.COM

Facebook Comments