No one can stop you from making progress if you are your lifeline, read

आपकी जीवन रेखा हो ऐसी तो तरक्की करने से कोई रोक नहीं सकता, पढ़िए

लाइफस्टाइल

आपकी जीवन रेखा हो ऐसी तो तरक्की करने से कोई रोक नहीं सकता, पढ़िए

सामुद्रिक शास्‍त्र यानी हस्‍तरेखा विज्ञान में जीवन रेखा का खासा महत्‍व होता है। ज्‍योतिष में बताया गया है कि LIFE LINE के निकास का प्रभाव व्‍यक्ति की किस्‍मत पर जरूर पड़ता है।

अगर आपका नाम A, K, M, T, P, S, R, N, G, तथा V, Y से शुरू होता है तो ये खबर पढ़े !

आइए जीवन रेखा से जुड़े अलग-अलग योग और उनके प्रभाव के बारे में जानते हैं ये खास बातें

अगर किसी के हाथ में जीवन रेखा गुरु पर्वत से शुरू हो तो ऐसे व्‍यक्ति उच्‍च विचार वाले होते हैं। उनके अंदर स्‍वाभिमान और सभ्‍यता के साथ स्‍वतंत्र रूप से शासन करने वाले गुण होते हैं। ऐसे लोग न ही किसी के बीच में बोलते हैं और न ही इन्‍हें किसी और का बोलना अच्‍छा लगता है।

आपके नाम के पहले अक्षर में छुपा है जिंदगी का राज, पढ़िए

स्‍वतंत्र व्‍यक्तित्‍व वाले होने के कारण घर के लोगों से कई बार इनके मतभेद भी रहते हैं। गुरु से निकली जीवन रेखा पूर्ण रूप से गोलाकार आकृति लिए होती है उनकी पत्‍नी, संतान और कुटुंबी सभी दीर्घायु होते हैं।

अगर किसी व्‍यक्ति के हाथ में जीवन रेखा मंगल से उदित हो रही हो तो ऐसे लोगों का जीवन मिलाजुला रहता है। कभी इनके जीवन में खुशी आती है तो कभी इन्‍हें दुखों का भी सामना करना पड़ता है।

धोखेबाज होती हैं इन 7 राशियों की लड़कियां, आप भी हो जाये सतर्क

कई बार ये चिड़चिड़े स्‍वभाव वाले, क्रोधी और शंकालु स्‍वभाव के होते हैं। ऐसे लोग कई बार लालची किस्‍म के भी होते हैं। इन्‍हें अक्‍सर पेट में एसिडिक समस्‍या रहती है।

ऐसी जीवन रेखा में मंगल और गुरु दोनों का प्रभाव मिश्रित रहता है। ऐसे व्‍यक्ति उन्‍नति करने वाले शांत होते हैं। ये किसी भी प्रकार का छोटा और बड़ा कार्य पूरी निपुणता के साथ कर लेते हैं और शीघ्र ही उन्‍नति कर जाते हैं।

अगर किसी व्‍यक्ति के हाथ में जीवन रेखा का अंत शुक्र, चंद्रमा या फिर इन दोनों के बीच में हो तो ऐसे लोगों की जीवन रेखा सामान्‍य फल देने वाली मानी जाती है। ऐसे लोगों का जीवन आराम से तो कटता है लेकिन वह अपने जीवन में कोई खास बड़ा मुकाम नहीं बना पाते हैं।

चंद्र पर्वत पर अंत होने वाली जीवन रेखा बहुत ही भाग्‍यशाली लोगों की होती है। ऐसे लोगों को स्‍त्री सुख, धन और संतान का सुख प्राप्‍त होता है। ऐसे लोगों का अंत भी सुख के साथ होता है। ऐसे लोगों को संतान का सुख तो मिलता है लेकिन इनकी संतान कई बार तरक्‍की में बाधा भी डाल सकती है। ऐसे लोगों को अपने घर से बहुत लगाव होता है और ये अपने घर को छोड़कर कहीं भी जाना नहीं पसंद करते।

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:  FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram

Facebook Comments