शादी से पहले करवाएंगे ये 6 मेडिकल टेस्ट तो कभी नहीं पड़ेगा पछताना

लाइफस्टाइल

लड़का-लड़की की शादी के लिए दोनों के गुण, रंग-रूप और कुंडली मिलाई जाती है। मगर ये गलत है शादी से पहले दोनों का मेडिकल चेकअप करवाना जरूरी होता है ताकि आगे चलकर कोई प्रॉब्लम ना हो। पर इसके बारे में कोई नहीं सोचता। अगर आप शादी के बाद खुशहाल जीवन व्यतीत करना चाहते हैं तो कुंडली मिलाने से पहले मेडिकल चैकअप जरूर करवा लें। आज हम आपको कुछ मेडिकल टेस्ट के बारे में बताएंगे जो कपल्स को शादी से पहले जरूर करवा लेने चाहिए

1. जेनेटिक टेस्‍ट
शादी से पहले जेनेटिक टेस्ट करना बहुत जरूरी होता है। इस टेस्ट को करवाने से यह पता चल जाएगा कि आपके होने वाले पार्टनर को कोई बीमारी तो नहीं है। अगर टेस्ट में किसी बीमारी का पता चलता है तो समय रहते उसका इलाज करवाया जा सकता है।

2. एसटीडी टेस्ट
एसटीडी टेस्ट से पता चलता है कि कहीं आपका पार्टनर सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज का शिकार तो नहीं है। अगर यह बीमारी किसी एक पार्टनर को होती है तो यह दूसरे को भी हो सकती है। जो दोनों के लिए बहुत खतरनाक साबित हो सकती है।

3. एजिंग टेस्ट
आजकल ज्यादातर लड़कियां 28 की उम्र के बाद ही शादी करती है। इस उम्र के बाद मां बनने के चांस बहुत कम होते हैं। इस टेस्ट को करवाने से पता लगाया जा सकता है कि इस उम्र पर वे मां बनने के लिए कितनी सक्षम हैं।

4. इनफर्टिलिटी स्‍क्रीनिंक
शादी के बाद अगर कोई महिला मां नहीं बन पाती तो इसका दोष महिला को ही दिया जाता है। इसलिए शादी करने से पहले दोनों को इनफर्टिलिटी स्‍क्रीनिंग टेस्ट जरुर कराना चाहिए।

5. ओवरी की जांच
वैसे तो इस बीमारी का इलाज सर्जरी द्धारा किया जा सकता है लेकिन फिर भी महिलाओं को शादी से पहले इस टेस्ट को करवा लेना चाहिए।

6. ब्‍लड डिसऑर्डर टेस्‍ट
ये टेस्ट महिलाओं का किया जाता है। इस टेस्ट को करवाने से आसानी से पता चल जाता है कि लड़की ब्लड हीमोफीलिया या थैलेसीमिया से ग्रसित तो नहीं है। इस बीमारी में ज्यादातर बच्चे पैदा होते ही मर जाते हैं।