महिलाओं को नहीं लेना चाहिए पति का नाम, घटती है उम्र

लाइफस्टाइल

लाइफस्टाइल डेस्क। पुराने जमाने में महिलाएं अपने पति का नाम नहीं लेती थीं। मगर, आज-कल ऐसा देखने को नहीं मिलता है। ज्यादातर महिलाएं अपने पति का नाम लेती हैं, जिससे पति की उम्र घटती है। यही वजह है कि पुराने जमाने में महिलाएं पति का नाम नहीं लेती थीं।

शास्त्रों के अनुसार, महर्षि वेदव्यास की बातों को गणेश जी ने स्कंद पुराण में लिखा है। स्कंद पुराण में लिखा है कि पतियों को नाम से बुलाने पर उनकी उम्र घटने लगती है। इसके साथ ही इसमें यह भी लिखा गया है कि जिस घर में पतिव्रता स्त्री आती है, उस घर में रहने वाले लोगों का जीवन खुशियों से भर जाता है।

स्कंद पुराण में यह भी लिखा हुआ है कि वहीं महिलाएं पतिव्रता स्त्री कहलाती हैं, जो अपने पतियों के खाने के बाद ही भोजन करती हैं। यह भी कहा गया है जो महिलाएं अपने पतियों के सोने के बाद सोती हैं और सुबह पति के उठने से पहले उठ जाती हैं उन्हें ही पतिव्रता पत्नी का दर्जा दिया जाता है।

पति दूर हो तो न करें श्रृंगार

एक पातिव्रता स्त्री का पति यदि उससे दूर रहता है, तो उसे उस दौरान श्रृंगार नहीं करना चाहिए। इतना ही नहीं किसी भी तीर्थ स्थान या उत्सव में पति से पूछे बिना नहीं जाना चाहिए।