जानिये…कलयुग का अंत आते-आते कैसी हरक़तें करेंगे लोग, आपने कभी सोचा भी न होगा

लाइफस्टाइल

हमने और आपने बचपन से अलग-अलग युगों के बारे में सुना है और हम इन युग-पुराणों की बातो पर विश्वास भी करते है क्योंकि इन सब बातों को आस्था से जोड़ कर देखा जाता है। ऐसा माना जाता है और शास्त्रों में वर्णन किया गया है की समय चक्र के 4 युग हुए है, जो इस प्रकार है – 1.सतयुग, 2. त्रेतायुग, 3. द्वापरयुग और 4. कलयुग Kalyuga जो की वर्तमान काल कहलाता है।

आज हम आपको बताने जा रहे है इंसान की जीवन काल में हुए उन महत्वपूर्ण परिवर्तनों के बारे जिनके पीछे युगों का बदलना ही अहम कारण माना जाता है। सबसे पहले आपको बता दे “युग” का अर्थ होता है एक नियमित समय अवधि, जिसमे वर्षों की संख्या निर्धारित होती है।

Kalyuga के अंत में क्या होगा

ऐसा माना जाता रहा है की कलयुग Kalyuga से पहले हुए युगों में मनुष्य की आयु और लम्बाई ज्यादा होती थी और हर आने वाले नए युग में पिछले युग से तुलना करने पर इंसान की उम्र और लम्बाई लगातार कम होती जा रही है। माना जा रहा है की “कलयुग” जिस युग में हम जी रहे है इस युग के अंतिम चरण तक पहुँचते-पहुँचते मनुष्य की उम्र की अवधि मात्र 12 वर्ष रह जाएगी और लम्बाई केवल 4 इंच।

पुराने जानकारों और पुराणों में हुए वर्णन से कहा जा सकता है की इन चारों युगों की शुरुआत सतयुग से हुई थी जिसे पहला युग कहा जाता है और इसी आधार पर कलयुग Kalyuga अंतिम युग है।

पुरापंडितों के अनुसार कलयुग Kalyuga की कुछ अहम विशेषताए हम आपको बताते है :

  • कलयुग की पूर्ण आयु – 4,32,000 वर्ष
  • इस युग में मनुष्य की आयु – 100 वर्ष होती है ।
  • मनुष्य की लम्बाई – 5.5 फिट (लगभग) [3.5 हाथ]
  • कलियुग का तीर्थ – गंगा है ।
  • इस युग के अवतार – कल्कि (ब्राह्मण विष्णु यश के घर) ।
  • अवतार होने के कारण – मनुष्य जाति के उद्धार अधर्मियों का विनाश एंव धर्म कि रक्षा के लिए।
  • मुद्रा – लोहा, पात्र – मिट्टी के है।

जानकारों के अनुसार सतयुग को स्वर्ण युग कहा गया है और उसके बाद मनुष्य पतन की तरफ बढ़ता चला आया है। ये भी कहा गया है की कलयुग Kalyuga के अंत होने पर इस धरती पर भी जीवन समाप्त हो जायेगा लेकिन इस तर्क में अभी काफी मतभेद है।