इस नर्सिंग होम में गूंजी थी सलमान खान की पहली किलकारी, कमलनाथ सरकार देगी ये तोहफा, : INDORE NEWS

एंटरटेनमेंट

इंदौर. बॉलीवुड के सुपरस्टार सलमान खान का कल  54वां जन्मदिन था . भाईजान इंदौर के रहने वाले हैं, क्‍योंकि उनके दादा अब्दूल रशीद खान (Abdul rashid khan) अफगानिस्तान से इंदौर आए थे और यहां होल्कर स्टेट के समय महेश्वर में 12 साल तक पुलिस महानिदेशक के पद पर तैनात रहे थे. सलमान के पिता सलीम खान का जन्म भी इंदौर में हुआ था और जब वे बच्चे थे तब महेश्वर में गर्मियों की छुट्टियों के दौरान हमेशा अपने पिता से मिलने जाते थे. इसे संयोग ही कहेंगे कि सलमान खान की दबंग थ्री फिल्म की शूटिंग भी महेश्वर में हुई है. इस दौरान सलमान खान इंदौर आए थे और यहीं से महेश्वर गए थे. जबकि उनके परिवार के लोग आज भी इंदौर के खान कंपाउंड में रहते हैं.

यही नहीं, कमलनाथ सरकार कल्याणमल नर्सिंग होम को तोड़कर अब यहां सौ करोड़ की लागत से अत्याधुनिक अस्पताल बनाने जा रही है, जिसमें सलमान खान की बचपन की यादों को संजोया जाएगा. जबकि कमलनाथ सरकार इस अस्पताल का उद्घाटन भी सुपरस्टार सलमान खान के हाथों ही कराएगी.सलमान खान के फैंस और उनके परिवार के लोग उनके जन्मदिन पर भले ही उनकी लम्बी उम्र और कामयाबी की दुआ मांग रह हैं, लेकिन सलमान के ताऊ नईम खान उनके जन्मदिन पर बस एक ही दुआ मांग रहे हैं कि अब सलमान खान शादी करके अपना घर बसा लें, उनके बीबी बच्चे हो जाएं. नईम खान का कहना है कि सब कुछ होने के बावजूद भी घर नहीं बस पाना मन को पीढ़ा देता है, लेकिन ये सब नसीब की बात होती है.

उसके जिंदगी में जो लड़कियां आतीं है वो उसके करियर के हिसाब से आतीं हैं. मेरे बड़े भाई ने भी शादी नहीं की थी. संजीव कुमार की भी शादी नहीं हुई थी. सलमान के दोनों भाई सुहैल खान और अरबाज खान की शादी हो चुकी है और उनके बच्चे भी जवान हो गए हैं, लेकिन सलमान की शादी न होने से पूरा परिवार चिंतित रहता है. इसलिए हम लोग चाहते हैं कि सलमान अब शादी कर लें और उनके जन्मदिन पर हम लोग यही दुआ मांगते हैं कि अल्लाह उसका घर बसा दें.

सलमान खान की भतीजी असमा खान का कहना है कि शादी करना उनका निजी मामला है, लेकिन हम लोग उनके जन्मदिन पर यही दुआ करना चाहेंगे कि वो इसी तरह तरक्की करते रहें हैं. कामयाबी हमेशा उनके कदम चूमे. अल्लाह उनको तंदुरूस्त रखे. आसमा का कहना है कि सलमान से मिलकर उन्हें बहुत अच्छा लगता है और वो बिलकुल सामान्य परिवार की तरह व्यवहार करते हैं. कभी ऐसा अहसास ही नहीं होने देते कि वो बहुत बड़ी हस्ती हैं. हमेशा मजाक मस्ती करते हैं. उनमें किसी तरह का ईगो नहीं है. साथ ही आसमा का कहना है कि चाचा सलमान के जन्मदिन पर परिवार को दोहरी खुशी मिलने जा रही है. उनकी बुआ अर्पिता मां बनने जा रही है और उसके लिए 27 दिसम्बर की तारीख चुनी गई है सलमान खान की शुरुआती शिक्षा ग्वालियर के सिंधिया स्कूल में हुई थी और मुंबई शिफ्ट होने के बाद उनका इंदौर से रिश्ता लगभग टूट सा गया, लेकिन इंदौर की एक 78 साल की महिला के साथ सलमान का खास संबंध है. सलमान खान का जन्म कल्याणमल नर्सिंग होम में हुआ था और दाई रुकमणि भाटी पर डिलिवरी करवाने से लेकर सलमान की मालिश तक का जिम्मा था. उन्होंने बताया कि जब मैंने सलीम साहब को सलमान के जन्म की खबर दी तो उन्होंने खुश होकर 100 रुपए का नोट दिया था. उस ज़माने में ये बहुत बड़ी रकम थी. वे बताती हैं कि सलमान की मालिश के लिए उनके ताऊ बटवा मियां ख़ासतौर पर सियागंज से तिल्ली का तेल लाते थे. उनकी हिदायत पर मैं रोज कम से कम एक घंटे तक सलमान की मालिश किया करती थी. रुकमणि का कहना है कि करीब आठ साल पहले एक फिल्म के प्रमोशन के दौरान सलमान जब इंदौर आए थे तो उन्हें दाई की जानकारी मिली थी. उन्होंने मिलने के लिए मुझे होटल भी बुलाया था, तब मैं अपनी दो पोतियों को लेकर होटल पहुंची थीं. इस दौरान मैंने सलमान को बताया था बचपन में वे ऐसे लगते थे.

हालांकि रुकमणि अब सलमान खान से मिलकर अपनी गरीबी की पीड़ा बयां करना चाहते हैं जिससे मेरी पोतियों की शादी में मदद मिल जाए. अभी भी लोग ताने मारते हैं कि रूकमणि सलमान ने तुम्हारे लिये क्या किया. हालांकि रुकमणी भाटी की भी इच्छा है कि सलमान खान शादी कर लें और अपना घर बसा लें. उनका कहना है कि जब वो सलमान खान से मिलीं थी तो उन्होंने शादी की सलाह दी थी. हालांकि तब सलमान ने कहा था कि अभी वह शादी नहीं करना हैं.

Facebook Comments