शर्मनाक : कहा, हमारे सामने कपड़े बदलो, दोस्त के साथ…..1 min read

Crime

ग्वालियर। बॉलीवुड की रंगीन लाइफ के सपने लिए घर से निकली पूर्व मिस ग्वालियर ने एक बार फिर इस इंडस्ट्री का वो नंगा सच उजागर कर दिया जिसके लिए इंडस्ट्री हमेशा से बदनाम है। पीड़िता बताती है कि ग्लैमर की चकाचौंध में इतनी खो गई थी कि अपने ही ब्वॉयफ्रेंड के खिलाफ रेप की एफआईआर करा दी। पीड़िता का कहना है कि हर कोई उससे सिर्फ एक ही चीज चाहता था। लोगों ने उसे खिलौना बनाकर रख दिया था। पीड़िता ने मंगलवार को एक और एफआईआर दर्ज करवाई है। इस एफआईआर में उसने उन सभी को आरोपित किया है जिन्होंने उसका यौन शोषण करने की कोशिश की।

उम्मीद थी सभी लोग मेरे माता-पिता की तरह सोचते होंगे
मैं मां-पिता की इकलौती बेटी, जिसके सपने थे कि वह बड़ी होकर अपने पैरेंट्स का नाम रोशन करें, लेकिन न जाने वह कौन सी मनहूस घड़ी थी, जब मुझे कॉलेज में अन्य सहेलियों की देखा-देखी ग्लैमर फील्ड में नाम करने का जुनून जागा। उम्मीद थी कि सभी लोगों की सोच मेरे माता-पिता की तरह होगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। जिस दिन मेरे साथ सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर कोई गलत कमेंट्स करता उस पूरी रात सो भी नहीं पाती थी। खाना कमरे की टेबल पर रखा रहता। रातभर रोते-रोते आंखें सुबह तक सूज जाती थी। मां इस बात को लेकर काफी दुखी होती और पूछती बेटी क्या बात है। मैं अपने अंदर का दर्द उन्हें इसलिए नहीं बताती थी कि एक न एक दिन सब ठीक हो जाएगा, इसलिए कभी रातभर पढ़ाई करने की झूठी कहानी सुनाती और कभी एक्जाम का टेंशन की बात बताती।

न जाने कितने लोग मिले, लेकिन सभी का एक ही मकसद
हमारी हंसती खेलती जिंदगी में दाल बाजार व्यापार समिति के सचिव मनीष बांदिल की एंट्री हुई। पहले मनीष फिर संजय कट्ठल और धीरे-धीरे ग्लैमर की इंडस्ट्री में जैसे-जैसे आगे बढ़ी…,न जाने कितने लोग मुझसे मिले, लेकिन सभी का एक ही मकसद था, मेरे जिस्म को पाना, ऐसा लगा कि इनमें मानवता खत्म हो गई है।

वो मनहूस दिन, जिसके बाद मेरी जिंदगी नरक बन गई
बात अप्रैल 2017 की है, जब इंस्टाग्राम पर मनीष से बातचीत शुरू हुई और उसी महीने में उन्होंने मुझे कैफे कॉफी-डे में बुलाया। मैंने उनका नाम काफी सुन रखा था, इसलिए मैं भी बिना संकोच के मिलने चली गई। वहां लायंस क्लब के रीजन चेयरपर्सन जुबेर रहमान भी उनके साथ आए थे। वह ऐसा मनहूस दिन था, जिसके बाद मेरी जिंदगी नरक बन गई। उस समय दोनों ने मुझे ग्लैमर जगत में पॉपुलर करने के कई प्रलोभन दिए कि आपको मुंबई में एक्ट्रेस बनवाएंगे, बस हमारा कहा मानती रहो।

कहा कि हमारे सामने कपड़े बदलो
उसके बाद हम साईंबाबा के मंदिर स्थित जुबेर रहमान के ऑफिस में गए। वहां पर उन्होंने मेरा फोटोशूट करवाया और कहा कि हमारे सामने कपड़े बदलो। उस समय मैं परेशान हो गई और मैंने दोनों को बुरी तरह डांटा। मैंने कभी सोचा नहीं था कि इतनी छोटी उम्र में मुझे यह सब करना पड़ेगा। मैं वहां से सीधे अपने घर चली गई।

स्वीमिंग पूल में कपड़े उतारकर मुझे…
दिल्ली में 5 जून 2017 में स्टार लाइफ का कांटेस्ट हुआ। जिसमें भागीदारी करने के लिए मनीष मुझे एक दिन पहले दिल्ली ले गया। वहां हम लोग ललित होटल में रुके और मनीष ने स्वीमिंग पूल में मेरा फोटोशूट कराया। उसने पानी के अंदर मुझसे जबरदस्ती की और मेरे कपड़े उतारकर मुझे पकड़ने लगा। इस तरह की हरकत देखकर मुझे गुस्सा आ गया। मैंने उसे धक्का दिया और खरी-खोटी सुनाई।



मेरे दोस्त के साथ रूम शेयर करना होगा
उस रात ही स्टार लाइफ कांटेस्ट के आर्गनाइजर हेमंत से मुझे मनीष ने मिलवाया। उन्होंने मुझसे कहा- आपको मेरे दोस्त सुशील के साथ रूम में रुकना पड़ेगा। यदि आपको विनर बनना है, तो आपको मेरे लिए सब कुछ करना होगा। मैं भौंचक्की रह गई। मैंने गुस्से में अपना बैग पैक किया और कांटेस्ट में हिस्सा लिए बिना वापस ग्वालियर आ गई। मुझे लगा कि यहां मुझे सिर्फ इस्तेमाल करने के लिए बुलाया गया है।

अपने हाथ से पिज्जा खिलाया और गोद में बैठने के लिए बोला
जब मैं 3 सितंबर 2017 में मिस ग्वालियर का कांटेस्ट जीती, तब शहर में मेरी लोकप्रियता बढ़ी। उसके बाद एसोसिएशन ऑफ ग्वालियर यूथ सोसायटी के अध्यक्ष संजय कट्ठल ने मुझे एक सांस्कृतिक कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बुलाया। इस कार्यक्रम में जब मैं पहुंची, तो अपने हाथों से मुझे पिज्जा खिलाया और मुझे गोद में बैठने के लिए बोला। जब मैंने उस पर भड़कना शुरू किया, तो उसने मुझे धमकी दी और कहा कि सारी पुलिस मेरे साथ है, तुम मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकती। एक हफ्ते बाद दुबारा मुझे अपने लोहिया बाजार स्थित दुकान पर बुलाया और हरकत की।

मुझे बहकाकर ब्वॉयफ्रेंड के खिलाफ 376 का केस लगवा दिया
दिल्ली में हुए कांटेस्ट के बाद मनीष बांदिल ने मुझे मेरे ब्वॉयफ्रेंड के खिलाफ यह कहकर भड़काना शुरू किया कि उसकी कई सारी गर्लफ्रेंड हैं। इस दौरान ब्वॉयफ्रेंड से मेरा झगड़ा हुआ और मैंने दिसंबर में उस पर धारा 376 के तहत केस दर्ज करा दिया। एक महीने बाद हम दोनों ने एक दूसरे से बात की और हमारे मतभेद दूर हुए। उसने मुझे समझाया कि तुम डरो नहीं, इनके खिलाफ कार्रवाई करो। मैं हमेशा तुम्हारे साथ हूं।



Facebook Comments