Satna Murder Mystery : पटवारी को दूसरी पटवारिन से था रिश्ता, तो पत्नी ने 8 साल छोटे प्रेमी के साथ मिलकर कर दिया मर्डर

Satna Murder Mystery : पटवारी का दूसरी पटवारिन से था रिश्ता, तो पत्नी ने 8 साल छोटे प्रेमी के साथ मिलकर कर दिया मर्डर

क्राइम सतना

सतना (Satna). मध्यप्रदेश के सतना (Satna) जिले में एक मर्डर मिस्ट्री (murder mystery) का खुलासा हुआ है. यहाँ एक पटवारी की दो मंजिला छत से गिरने से संदिग्ध मौत हुई थी, जिसकी जांच में पाया गया की ये महज एक आकस्मिक दुर्घटना नहीं बल्कि सोची समझी और रणनीति के तहत रची गई मर्डर मिस्ट्री (murder mystery) है. 

REWA में महिलाएं बेचेंगी शराब, यहाँ लगी डयूटी

जांच में इस हत्‍याकांड का मास्टरमाइंड खुद पटवारी की पत्नी निकली. मामला पति-पत्नी और वो का था. पटवारी और उनकी पत्नी दोनों के अलग-अलग प्रेम संबंध थे. पुलिस ने बताया कि पति की बेवफाई और प्रताड़ना से तंग पत्नी भी किसी और के प्यार में पड़ गयी और फिर आशिक के साथ मिलकर पति को हमेशा के लिए रास्ते से हटा दिया. पत्नी का प्रेमी उससे 8 साल छोटा था. मर्डर मिस्ट्री (Murder Mystery) सुलझाने के लिए पुलिस अधीक्षक की मौजूदगी में घटना का रिक्रेएशन भी कराया गया था.

इस सनसनीखेज हत्याकांड में पटवारी संदीप की हत्या उसकी पत्नी प्रियंका ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर की. इसमें आशिक के एक दोस्त ने भी साथ दिया. तीनों ने मिलकर पटवारी को छत से नीचे फेंक दिया था. उसके बाद भी कहीं वो बच न जाए, इसलिए पत्थर पर पटक कर हत्या कर दी. पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे डाल दिया है.

मध्यप्रदेश : हाँथ चूमकर इलाज़ करने वाले बाबा की कोरोना से मौत, 29 भक्त भी हुए पॉजिटिव

मोबाइल फोन से मिला क्लू

पटवारी संदीप सिंह संतोषी बिहार कॉलोनी में किराये के दो मंजिला मकान में पत्नी प्रियंका और दो बेटियों के साथ रहता था. वो सगौनी हल्का में पटवारी था. 1 जून को वह छत के नीचे बुरी तरह ज़ख्मी हालत में पड़ा मिला था. अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. पहली नज़र में ये हादसा लगा कि संदीप की छत से गिरकर मौत हुई है.

लेकिन घटनास्थल की जांच के दौरान फॉरेंसिक अधिकारी और कोलगवां पुलिस को संदेह हुआ कि दो मंजिला इमारत से गिरने के बावजूद उसके मोबाइल फोन में खरोंच तक नहीं आयी. ये कैसे हो सकता है. इतनी ऊंचाई से गिरने पर बॉडी इतनी दूर पड़ी नहीं मिल सकती. ऐसे में संदेह गहराया कि हो न हो मृतक को छत से धक्का दिया गया और फिर उस पर वजनी चीज से हमला किया गया. फॉरेंसिक अधिकारी का मानना था कि अगर कोई व्यक्ति इमारत से गिरता या कोई धक्का देता तो वह 6 से 7 फुट से ज्यादा दूर नहीं गिर सकता था.

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:  

FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram

Facebook Comments
Tagged