पेट्रोल-डीजल: जल्दी फुल करवा लें अपनी टंकी, होने वाला है कुछ ऐसा..

फिर बढ़ सकती है पेट्रोल-डीजल की कीमत, जानिए क्या है कारण

बिलासपुर राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

नई दिल्ली। देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतें फिर से बढ सकती हैं। ये आशंका अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में इजाफा होने व डॉलर के मुकाबले रुपए के कमजोर होने की वजह से जताई जा रही है। बीते एक माह में तेल की कीमतों में कुछ कमी आई है या स्थिरता बनी हुई है। बीते 6 दिनों से सरकारी तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बदलाव नहीं किया है जबकि इस दौरान अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दामों में 3 डॉलर प्रति बैरल का उछाल आय़ा है।

अमेरिका द्वारा ईरान पर कड़े प्रतिबंध लगाए जाने के बाद मार्केट विषेशज्ञों का मानना है कि तेल की आपूर्ति में कमी आ सकती है। इस वजह से ही 21 जून से अभी तक कच्चे तेल की कीमत 6 डॉलर प्रति बैरल बढकर 79.5 डॉलर पर पहुंच गई है। प्रमुख तेल उत्पादक देशों ने हाल ही में 10 लाख बैरल से ज्यादा तेल आपूर्ति करने का ऐलान किया था, लेकिन इतनी आपूर्ति से तेल की मांग पूरी नहीं हो पाएगी। यही वजह है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल के दाम में बढ़ोत्तरी हो रही है।