राष्ट्रीय हस्तशिल्प पुरस्कार वितरण का आयोजन, 8 शिल्पियों को शिल्पगुरु और 25 को राष्ट्रीय पुरस्कार से किया गया सम्मानित1 min read

Chhattisgarh Raipur

रायपुर. राजधानी रायपुर में आज राष्ट्रीय हस्तशिल्प पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजित किया गया. इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री रमन सिंह, केन्द्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी पहुंच हुए हैं. इस दौरान केन्द्रीय कपड़ा राज्य मंत्री अजय टमटा कार्यक्रम में नहीं पहुंच पाए हैं. पंडित दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम में समारोह का आयोजन किया गया है. इस दौरान कार्यक्रम में मंत्री पुन्नूलाल मोहले, सांसद रमेश बैस भी मौजूद हैं.

इस अवसर पर सिद्ध हस्तशिल्पियों को शिल्प गुरू पुरस्कार और राष्ट्रीय पुरस्कार दिए गए. छत्तीसगढ़ के कुल 33 लोगों को पुरुस्कृत किया गया है. आयोजन में 8 शिल्पियों को शिल्प गुरू पुरस्कार और 25 शिल्पियों को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा. साथ ही पुरस्कार के रूप में दो लाख रूपए नगद और एक स्वर्ण सिक्के के साथ शॉल, प्रमाण पत्र और ताम्र पत्र दिए गए.

इस दौरान स्मृति जुबेन ईरानी ने कहा कि बीते 15 वर्षो में जब भी छत्तीसगढ़ आना हुआ तो सीएम रमन सिंह के मुख से केवल एक ही बात सुनी छत्तीसगढ़िया सबले बढ़िया. उन्होंने कहा कि कलाकारों की ये धरा है यहां आना हर केंद्रीय मंत्री के लिये सौभाग्य की बात है. जब हमारे सम्मानित शिल्पकारों से सीएम भेंट कर रहे थे उनमें से एक शिल्प गुरु ने रमन सिंह से मुस्कुराते हुए कहा कि साहब आप यहां आए है लेकिन बाहर जो दीनदयाल जी की मूर्ति है उसे मैनें बनाया है. एक मूर्तिकार के लिए ये सबसे बड़ा सौभाग्य है. रोमन आर्ट के माध्यम से कच्छ की परंपरा को खूबसूरत तरीके से प्रस्तुत किया गया

जिन शिल्पकारों को वर्ष 2016 का शिल्प गुरू पुरस्कार दिया गया उनमें दिल्ली के मोहम्मद मतलूब, जम्मू-कश्मीर के गुलाम हैदर मिर्जा, ओड़िशा के रूपम माथरू, पंजाब के गोपाल सैनी, राजस्थान के अर्जुन प्रजापति और बाबूलाल मरोटिया, पश्चिम बंगाल की तृप्ति मुखर्जी शामिल हैं.

Facebook Comments