भाजपा: रमन लाए घोषणा पत्र का आधार ‘अटल दृष्टि पत्र’; संकल्प- नवा छत्तीसगढ़ 20251 min read

Chhattisgarh

रायपुर. दिसंबर में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा के घोषणा पत्र का आधार रविवार को सामने आ गया। इसमें नवा छत्तीसगढ़ का नारा देकर भाजपा राज्य की 2025 की तस्वीर आम लोगों के सामने रखने जा रही है।

नवा छत्तीसगढ़ के संकल्प को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर जारी कर रमन सरकार ने उसे ‘अटल दृष्टि पत्र’ का नाम दिया है। यानी भाजपा लोगों के सामने अटलजी का नाम ही रखने का प्रयास करेगी। 5 सितंबर से शुरु हो रही विकास यात्रा के पहले मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने सरकार के विजन को सार्वजनिक किया। सरकार ने इसमें अपनी सोच तो रखी है, पर इसे अंतिम रुप देने से पहले राज्य के लोगों से रायशुमारी की जाएगी। पार्टी कार्यकर्ताओं से लेकर गांव-गांव और ऑनलाइन भी रायशुमारी की जाएगी। इसके लिए सरकार एक मोबाइल नंबर जारी कर सुझाव मांगेगी। आचार संहिता लागू होने से पहले सरकार इसके ड्राफ्ट को फाइनल कर देगी। फिलहाल सरकार ने जिस अटल दृष्टि को सामने रखा है उसमें छत्तीसगढ़ के नए स्वरूप की परिकल्पना है। इसमें छत्तीसगढ़ की सबसे बड़ी समस्या गरीबी को दूर करने की बात कही गई है। इसके तहत 2025 तक गरीबी को 15 से कम लाने का वादा है, वहीं 2030 तक राज्य के लोगों गरीबी रेखा से बाहर निकालने की बात है। राज्य की जीएसडीपी को दोगुना करने के साथ लोगों की आय के मामले में छत्तीसगढ़ को देश के शीर्ष पांच राज्यों में खड़ा करने का संकल्प भाजपा कर रही है। 2022 तक छत्तीसगढ़ के सभी लोगों के लिए घर और शत प्रतिशत लोगों को साक्षर करने का वादा है। किफायती स्वास्थ्य, किसानों की आय दोगुनी, 10 हजार किलोमीटर की नई सड़कों के निर्माण का भी वादा होगा।

विकास यात्रा में मोदी और शाह आएंगे : मुख्यमंत्री की विकास यात्रा के दूसरे चरण की शुरुआत करने 5 सितंबर को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह यहां आ रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 जनवरी को आएंगे, वे जांजगीर-चांपा में सभा भी करेंगे। महीने भर की विकास यात्रा में कई केंद्रीय मंत्री भी आएंगे। इसमें रमन 6 हजार किलोमीटर चलकर 45 विधानसभाओं में जाएंगे और करीब 42 सभाएं संबोधित करेंगे। इसमें लोकार्पण और भूमिपूजन के अलावा करीब 700 करोड़ रुपए का बोनस भी बांटा जाएगा।

Facebook Comments