15 अगस्त से बदलेगा कई ट्रेनों का टाइम, तत्काल टिकट भी 15 मिनट पहले मिलने लगेंगे1 min read

Chhattisgarh Madhya Pradesh National Tech & Gadgets

यदि त्यौहारी सीजन में आपका भी कहीं ट्रेन से यात्रा पर जाने का प्रोग्राम है तो पहले इंक्वायरी से अपनी ट्रेन का टाइम जरूर कंफर्म कर लें, क्योंकि 15 अगस्त से ट्रेनों का टाइम टेबल बदलने वाला है। ऐसे में कहीं यह न हो कि आप घर पर बैठे रह जाएं और ट्रेन निकल जाए। नया टाइम टेबल 14 एवं 15 अगस्त की दरम्यानी रात 12 बजे से लागू होगा। हालांकि झांसी मंडल को अभी नया टाइम टेबल प्राप्त नहीं हुआ है। रेलवे के नए टाइम टेबल में कई ट्रेनों का समय बदला जाना तय है, जिसकी जानकारी आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर भी डाली जाएगी।
आईआरसीटी ने पहले से ही यात्रियों को अलर्ट करना शुरू कर दिया है। इसके तहत जो लोग ऑनलाइन टिकट बुक करा रहे हैं, उनको मैसेज भेजा जा रहा है कि 15 अगस्त से टाइम टेबल चेंज होना है, इसलिए यात्री इंक्वायरी से पहले अपनी ट्रेन का समय जरूर पता कर लें। खास बात यह है कि रेलवे की नई समय सारणी लागू होने में केवल 5 दिन बचे हैं, लेकिन अब तक झांसी मंडल को नया टाइम टेबल प्राप्त नहीं हुआ है। सूत्रों के मुताबिक जिन ट्रेनों के स्टॉपेज किसी स्टेशन पर 5 से 10 मिनट के हैं, उनका समय घटाया जाएगा, जिससे ट्रेन समय पर गंतव्य पर पहुंच सकेगी

यात्रियों को टिकट लेने में होगी आसानी, तत्काल टिकट भी 15 मिनट पहले मिलने लगेंगे –

रेल यात्रियों को टिकट लेने में आसानी हो इसलिए शहर में जगह-जगह टिकट सुविधा केंद्र खोले गए हैं। इनका संचालन निजी हाथों में होता है और कुछ अतिरिक्त शुल्क देकर यात्री यहां से आरक्षित टिकट खरीद सकते हैं। अब ये केंद्र सुबह साढ़े आठ बजे की जगह सवा आठ बजे खुल जाएंगे। इससे यात्रियों को कन्फर्म टिकट लेने में आसानी होगी। रेल आरक्षण केंद्र तो सुबह आठ बजे खुल जाते हैं, लेकिन सुविधा केंद्र में सुबह साढ़े आठ बजे से ही टिकट की बिक्री शुरू होती है। आधे घंटे देरी से टिकट मिलने की वजह से कई बार यात्रियों को कंफर्म टिकट नहीं मिलता है। इसे लेकर टिकट सुविधा केंद्र चलाने वालों ने रेल प्रशासन से शिकायत की थी।

उनका कहना था कि देर से टिकट मिलने से उनका कारोबार प्रभावित हो रहा है। उनकी शिकायत पर रेल प्रशासन ने टिकट सुविधा केंद्र सुबह सवा आठ बजे से खोलने की अनुमति देने का फैसला किया है। इन केंद्रों से तत्काल टिकट भी पहले की तुलना में 15 मिनट पहले मिलने लगेंगे। इसे लेकर रेलवे बोर्ड ने क्रिस को सॉफ्टवेयर में बदलाव करने को कहा है। टिकट सुविधा केंद्र से स्लीपर श्रेणी का टिकट लेने पर 20 रुपए और वातानुकूलित श्रेणी के टिकट के लिए 30 रुपए अतिरिक्त देने पड़ते हैं।

Facebook Comments