Raman-Singh

NRC में कूदे मुख्यमंत्री रमन कहा भारत कोई धर्मशाला नहीं जब जिसका मन आये रहने लगे

छत्तीसगढ़

असम के नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (NRC) का फाइनल ड्राफ्ट जारी होने के बाद शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. इस मामले ने राजनीतिक रूप ले लिया है. इस बयानबाजी में अब छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह भी उतर गए हैं. रमन सिंमह ने एक बार फिर से NRC मुद्दे पर बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि क्या भारत धर्मशाला है ? जो बाहर ये आए हैं. उनको बाहर जाना ही होगा. बता दें कि असम में नागरिकता रजिस्टर (NRC) के फाइनल ड्राफ्ट में राज्य के करीब 40 लाख लोगों को जगह नहीं मिली है.

मीडिया खबरों के अनुसार रमन सिंह ने कहा ”क्या आप भारत को धर्मशाला बनाना चाहते हैं. कोई जबरन घुस आता है और आपके संसाधनों का उपयोग कर रहा है. इसको स्वीकार्य नहीं किया जा सकता. उनको वापस जाना ही होगा. ये समझ में नहीं आता कि कांग्रेस देश को किस दिशा में ले जाना चाहती है”.

इसके साथ ही रमनसिंह ने राहुल गांधी के BHEL वाले बयान पर कटाक्ष किया करते हुए कहा कि हम BHEL से भी पता कर रहे है कि वो मोबाइल निर्माण में आ रहे हैं क्या, क्योकि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने सलाह दी है. उन्होंने कहा कि ऐसे लोगो का भी प्रशिक्षण होना चहिए. यह सोचने वाली बात है कि एक राष्ट्रीय नेता का जनरल नॉलेज इतना कम है.

आपको बता दें कि रमन सिंह ने इससे पहले शुक्रवार को कहा था कि क्या हमारा देश धर्मशाला है जो बाहर से लोग यहां घुसते रहेंगे. उन्हें बाहर किया जाना चाहिए और इसके लिए ही लोगों को चिह्नित किया गया है. चिह्नित किए गए 40 लाख लोगों को अपनी पहचान साबित करनी चाहिए या वापस जाना चाहिए.