छत्तीसगढ़ में चौथी बार ऐसे बनेगी बीजेपी की सरकार, सांसदों को दो टूक निर्देश

छत्तीसगढ़

नई दिल्ली- छत्तीसगढ़ में चुनावी रणनीति को लेकर दिल्ली में आला नेताओं के बीच अहम चर्चा की गई है. बताया जा रहा है कि सांसदों से दो टूक कहा गया है कि अपने-अपने क्षेत्र में अब सक्रियता बढ़ा दें. सांसदों को निर्देश देते हुए कहा गया है कि विधानसभा जीतेंगे, तो ही लोकसभा जीतेंगे. लिहाजा अब कमर कस कर मैदान में कूद जाए.
दरअसल मुख्यमंत्री डाॅ.रमन सिंह ने दिल्ली में सांसदों को डिनर पर आमंत्रित किया था. डिनर के बाद अनौपचारिक बैठक आयोजित की गई, जिसमें राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल, राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री सौदान, मुख्यमंत्री डाॅ.रमन सिंह के अलावा बीजेपी के तमाम सांसदों की मौजूदगी थी. इस बैठक में विधानसभा चुनाव की रणनीति पर रायशुमारी की गई.
आला नेताओं ने बीजेपी सांसदों से कहा है कि- विधानसभा चुनाव में अब बहुत कम वक्त रह गया है. वक्त कम है और चुनौतियां बड़ी हैं, लिहाजा बगैर रूके और बगैर थके चुनावी मोर्चे पर मुस्तैदी से काम में जुट जाए. केंद्र और राज्य सरकार की उपलब्धियों को लेकर जनता के बीच पहुंचे.
लगभग 45 मिनट तक सांसदों के साथ चली इस चर्चा में न केवल विधानसभा चुनाव बल्कि लोकसभा चुनाव की प्रारंभिक रणनीति पर भी गहन विचार-विमर्श किया गया. कहा गया कि लोकसभा चुनाव में मोदी सरकार की जीत का आधार विधानसभा चुनाव के नतीजे ही देंगे, लिहाजा इसे लेकर किसी भी तरह की लापरवाही न बरती जाए.
अमित शाह के दौरे पर भी चर्चा
सूत्र बताते हैं कि बैठक के दौरान बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के 22 अगस्त को होने वाले छत्तीसगढ़ दौरे पर भी चर्चा की गई. गौरतलब है कि 10 अगस्त को राजधानी में बीजेपी के चुनाव कार्यालय में भी शाह के दौरे के मद्देनजर बड़ी बैठक बुलाई गई है, जिसमें बीजेपी के तमाम आला पदाधिकारी मौजूद होंगे.