छत्‍तीसगढ़ में राष्‍ट्रपति बोले, खत्म हो रहा नक्सलवाद

छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ के दो दिवसीय प्रवास पर आए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरुवार को डिमरापाल में आयोजित सभा में कहा कि हमारी संस्कृति में हिंसा का कोई स्थान नहीं है। अपने 16 साल पहले के बस्तर प्रवास को याद करते हुए कहा कि तब और अब के बस्तर में बहुत अंतर है। नक्सलवाद खत्म हो रहा है। उन्होंने कहा कि बस्तर और छत्तीसगढ़ के विकास के बिना देश के विकास की कल्पना नहीं की सकती।

राष्ट्रपति ने कहा कि छत्तीसगढ़ में प्रशासन और समाज के संवेदनशील लोगों ने नक्सलवाद के जाल में उलझे युवाओं का विश्वास जीता है। बहुत से भटके हुए लोग समाज और देश की मुख्यधारा में लौट रहे हैं।

इस मौके पर उन्होंने 170 करोड़ से निर्मित बलीराम कश्यप स्मृति 650 बिस्तर के मेडिकल कॉलेज अस्पताल भवन का लोकार्पण किया। साथ ही छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वाकांक्षी स्काई योजना के तहत मुफ्त स्मार्ट फोन वितरण योजना की शुरुआत की। दोपहर को वह दिल्ली लौट गए।

राष्ट्रपति ने बस्तर में तेजी से हो रहे विकास पर सूबे के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की सराहना करते हुए कहा कि अब बस्तर में विश्वविद्यालय,इंजीनियरिंग कॉलेज, मेडिकल कॉलेज, अच्छी सड़कें, इंटरनेट, मोबाइल कनेक्टिविटी और ऑप्टिकल फाइवर नेटवर्क की सुविधा है। यहां अब रेल सेवा और नियमित हवाई यात्रा की सेवा भी उपलब्ध हो गई है। अपने दो दिवसीय बस्तर प्रवास के अंतिम दिन के कार्यक्रम में राष्ट्रपति ने धमतरी की स्वच्छता दूत स्वर्गीय कुंवर बाई और वहीं की गोविंदी बाई को याद करते हुए उन्हें पथ प्रदर्शक बताया।