ई-पेंशन प्रणाली को लागू करने वाला देश का पहला राज्य बना छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़

रायपुर, । छत्तीसगढ़ ई-पेंशन प्रणाली को लागू करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। अब पेंशन से जुड़े हर कार्य यहां ऑनलाइन किए जाएंगे। इससे रिटायर होने के बाद अधिकारी-कर्मचारियों को दफ्तर के चक्कर नहीं लगाने होंगे।

बुधवार को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने पंडित जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के सभागृह में सुदीर्घ शासकीय सेवा के बाद रिटायर होने वाले शासकीय कर्मचारियों के लिए ऑनलाइन पेंशन मैनेजमेंट प्रणाली ‘आभार-आपकी सेवाओं का” और ई-पेंशन मोबाइल एप, वेबसाइट, शिकायत पोर्टल का शुभारंभ किया। इस अवसर पर हितग्राहियों को सम्मानित भी किया गया।

कार्यक्रम के बाद सीएम डॉ. रमन सिंह ने कहा कि जो लोग सेवानिवृत्त होते हैं, वह देश और प्रदेश के लिए धरोहर के समान होते हैं। ऐसे लोगों को अब कार्यालयों के चक्कर काटने से आजादी मिल जाएगी। मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने इस मौके पर कहा कि इस तरह की योजना लागू करना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया के सपने को पूरा करने की दिशा में बड़ा कदम है।

सेवानिवृत्ती के साथ हैं सम्मान के हकदार
मुख्यमंत्री ने समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि जीवन भर शासन को अपनी सेवाएं देने वाले सरकारी कर्मचारी और अधिकारी रिटायर होने के बाद पेंशन के साथ-साथ मान सम्मान के भी हकदार हैं। उनकी सेवाओं के लिए राज्य सरकार हमेशा उनकी आभारी रहती है। आज से प्रारंभ हो रहा ऑन लाइन पेंशन मैनेजमेंट सिस्टम पेंशनरों की सेवाओं के प्रति राज्य सरकार के आभार का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि इस प्रणाली के माध्यम से पेंशन प्रकरणों का त्वरित और सरलीकृत रूप से समाधान हो सकेगा। पेंशनरों के लिए यह प्रणाली काफी सुविधाजनक साबित होगी।

एक लाख पेंशनरों को मिलेगा प्रणाली का लाभ
इस प्रणाली का लाभ प्रदेश के लगभग एक लाख पेंशनरों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के डिजिटल भारत और डिजिटल छत्तीसगढ़ के सपने को साकार करने के लिए ई-पेमेंट, ई-प्रोक्योरमेंट सिस्टम लागू करने के बाद अंतिम छोर के गांवों तक इंटरनेट कनेक्टिविटी देने का काम तेजी से किया जा रहा है। ऑन लाइन पेंशन मैनेजमेंट सिस्टम के माध्यम से प्रदेश में पेंशनरों का डॉटाबेस भी तैयार होगा। उन्होंने यह भी बताया कि पेंशन प्रकरण के निराकरण के हर स्तर की सूचना संबंधित पेंशनर को एसएमएस के माध्यम से दी जाएगी। इस प्रणाली से ई-पेंशन भुगतान आदेश, ग्रेच्युटी सहित पेंशनरों को मिलने वाले अन्य सेवानिवृत्ति परिलाभ की जानकारी भी पेंशनरों को मिलेगी।