छत्‍तीसगढ़: रायपुर की रिसर्चर का दावा, कैंसर से बचाव का बनाया फॉर्मूला

छत्‍तीसगढ़: रायपुर की रिसर्चर का दावा, कैंसर से बचाव का बनाया फॉर्मूला

Health छत्तीसगढ़

रायपुर: कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसमें मरीज का बच पाना काफी मुश्‍क‍िल होता है. कई बार सही समय पर इसका पता चल जाए तो मरीज की जान बचा पाना आसान होता है. देश-विदेश में इस बीमारी से बचाव के लिए कई शोध हो चुके हैं और अभी भी इस पर काम जारी है. ऐसी ही एक रिसर्चर छत्‍तीसगढ़ की ममता त्रिपाठी ने दावा किया है कि उन्‍होंने अपने शोध में कैंसर से बचाव का फॉर्मूला निकाल लिया है.

ममता त्रिपाठी पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के रसायन विभाग में रिसर्चर हैं. ममता ने कैंसर से लड़ने के लिए एक नया फार्मूला बनाया है, जिसमें ऐसा कम्पाउंड तैयार किया गया है जो कैंसर मरीज के शरीर में दवा को लंबी अवधि तक रख कर कंपन के साथ किमोथैरेपी करेगा. इसे प्राथमिक तौर पर मेडिसिन साफ्टवेयर ग्रो मैक्स एन ए एमडी ने मानक क्षमता की स्वीकृति दे दी है.

देश की नामी मेडिसिन लैब दुर्गा फार्मासिटिकल लैब (डीएसपी) में इस फॉर्मूले का मानव शरीर पर परिक्षण किया जा रहा है. रिसर्चर ममता का कहना है कि उन्‍होंने चार वर्षों के शोध के बाद यह फार्मूला तैयार किया और इससे कैंसर सेल्‍स को 70 से 80 प्रतिशत का खत्‍म किया जा सकता है.

पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय प्रोफेसर का कहना है कि इस शोध से भविष्य में कैंसर के इलाज में आसानी होगी. इस फॉर्मूले को अभी साफ्टवेयर में जांच की गई है. प्रोफेसर का कहना है कि अगर ये मानव शरीर काम कर गया जो कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से छुटकारा पाना में ये बड़ा कदम होगा.