रमन सिंह का दावा, नए मॉडल से राज्य सरकार ने बिछाई 1200 किलोमीटर रेलवे लाइन

छत्तीसगढ़

रमन सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ का जन्म 2000 में होने के बाद हमें एक ऐसा क्षेत्र मिला जहां विकास का नामो निशान नहीं था. राज्य में रोड, पावर, शिक्षा, स्वास्थ्य जैसे क्षेत्रों में 2003 तक कोई काम नहीं किया गया. लेकिन इसके बाद उनकी सरकार ने राज्य में विकास की आधारशिला रखी और बीते 15 साल से लगातार हो रही मेहनत के चलते आज राज्य पूरे देश के सामने एक आदर्श और मॉडर्न स्टेट के तौर पर खड़ा हुआ है.

रमन सिंह ने कहा कि राज्य के निर्माण के बाद हमारे ज्यादातर आर्थिक और सामाजिक आंकड़े बुरी हालत में थे. लेकिन अब 2018 तक इन आंकड़ों में बेजोड़ बदलाव दर्ज हुआ है. रमन सिंह ने कहा कि उन्होंने ग्रामीण इलाकों और नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में पोर्टेबल स्कूल खड़े करते हुए रेजिडेंशियल स्कूल खड़े किए हैं. इसके अलावा रमन सिंह ने कहा कि अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने सड़क निर्माण का काम बिना रुके करवाया है. रमन सिंह ने दावा किया कि उनके कार्यकाल में नक्सली इलाकों में अंदर तक सड़क ले जानें में सफलता पाई है. अब राज्य सरकार बिजली को दूर दराज के इलाकों में ले जानें का बीड़ा उठाया है.

रमन सिंह ने कहा कि राज्य में युनीवर्सल हेल्थ प्रोग्राम चल रहा है. इस मामले में भी छत्तीसगढ़ बाकी राज्यों को पीछे छोड़ चुका है. रमन सिंह ने कहा कि राज्य के सभी जिलों में स्किल डेवलपमेंट सेंटर तैयार हैं. इन सेंटर्स से लाखों लोगों को नौकरी पाने के लिए तैयार किया जा रहा है.

रमन सिंह ने कहा कि सड़कों के अलावा पीपीपी मॉडल पर चलते हुए राज्य सरकार ने रेल नेटवर्क को फैलाने का काम किया है. रमन सिंह ने कहा कि पहले वह रेल लाइन के लिए नई दिल्ली में चक्कर लगाते थे लेकिन रेल नेटवर्क में एक किलोमीटर का इजाफा नहीं हुआ. अब राज्य के इस पीपीपी मॉडल पर चलते हुए राज्य सरकार ने 1200 किलोमीटर का रेल नेटवर्क तैयार किया है.

रमन सिंह ने दावा किया कि अगले 6 महीनों के अंदर वह राज्य में गांव-गांव और कस्बों तक बिजली पहुंचाने का काम पूरा कर लेंगे. रमन सिंह के मुताबिक उनके सरकार की चुनौती अगले छह महीनों में घर-घर में बिजली पहुंचाने की है. रमन सिंह ने कहा कि इंफ्रा सेक्टर के अलावा राज्य ने शिक्षा के क्षेत्र में भी लंबी छलांग लगाई है.

रमन सिंह ने कहा कि केन्द्र सरकार और नीति आयोग ने इस बात को माना है कि देश में किसी आदिवासी क्षेत्र को विकसित करने का सबसे अच्छा मॉडल छत्तीसगढ़ है. रमन सिंह ने कहा कि उनके कार्यकाल के दौरान नक्सली इलाकों में विकास के जरिए शांति कायम करने में सफलता पाई है. हालांकि रमन सिंह ने माना कि कुछ क्षेत्रों में नक्सली चुनौती बनी हुई है. हालांकि रमन सिंह ने कहा कि राज्य में सुरक्षा एजेंसियां अच्छा काम कर रही हैं राज्य के किसी भी क्षेत्र को पूरी तरह सुरक्षित कर सकते हैं.

रमन सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ ने किसानों से चावल खरीदने की एक आदर्श योजना बनाकर तैयार कर ली है. रमन सिंह ने कहा कि इस मॉडल के जरिए देश के अन्य राज्यों को भी इस मॉडल को अपने यहां पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम को ठीक करने का काम कर सकते हैं. रमन ने दावा किया कि उनकी सरकार में फसल को बिना किसी कैश ट्रांजैक्शन के किया जाता है.

स्टेट ऑफ स्टेट कॉन्क्लेव छत्तीसगढ़ के मंच पर राज्य के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने शिरकत की. इस सत्र की शुरुआत करते हुए इंडिया टुडे के एडिटोरियल डायरेक्टर राज चेंगप्पा ने कहा कि स्वतंत्र राज्य बनने के बाद बहुत कम समय में छत्तीसगढ़ ने विकास का एक मॉडल पेश किया है. राज चेनगप्पा ने कहा कि जहां अभीतक देश में सिर्फ बंगलुरू एक मॉडर्न सिटी के तौर पर देश के सामने एक मॉडल था. लेकिन बिते 15 साल के दौरान राज्य सरकार ने न्यू रायपुर को देश के दूसरे मॉडर्न सिटी के तौर पर विकसित करने में सफलता पाई है

राज चेनगप्पा ने कहा कि छत्तीसगढ़ न सिर्फ अपने लिए पर्याप्त बिजली पैदा कर रहा है बल्कि अब वह दूसरे राज्यों को भी बिजली देने का काम कर रहा है. इसके साथ ही छत्तीसगढ़ ने स्वतंत्र राज्य बनने के बाद स्थायी सरकार का भी मॉडल पेश किया है. राज्य में मुख्यमंत्री रमन सिंह लगातार तीसरी बार सत्ता पर कायम हैं. राज ने कहा कि छत्तीसगढ़ को इन्ही कारणों के चलते इंडिया टुडे ग्रुप ने विकास के एक मॉडल पर देखा. राज्य में लंबे समय तक के विकास के आंकड़ों का अध्ययन करने के बाद राज्य के विकास यात्रा में उपलब्धियों और चुनौतियों पर चर्चा करने का फैसला लिया है.