दो साध्वियों को कार में अगवा कर हुआ गैंगरेप, मचा हडकंप, सीएम तक पहुची बात

छत्तीसगढ़
रायपुर। दो साध्वियों को कार में अगवा करके पेंड्रा थाना इलाके में ले जाकर दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। दुष्कर्म के बाद आरोपियों ने पीड़िताओं से कहा कि उन्हें दोनों को मारने की सुपारी मिली है। वे बस दुष्कर्म कर छोड़ रहे हैं। आरोपियों ने साध्वियों से घटना को किसी से न बताने और दूसरे राज्यों में चले जाने को कहा। डरी-सहमी साध्वियां पश्चिम बंगाल जाकर रह रही थीं। फिर उन्होंने घटना की शिकायत पत्र के जरिए सीएम से की। इसके बाद पीड़िताओं की मौजूदगी में पेंड्रा थाने में मामला दर्ज हुआ है।



जांजगीर-चांपा की रहने वाली दो साध्वियों की मुलाकात बनारस के मडुआडीह निवासी दिलचंद पटेल से हुई। इसके जरिए वो दिलचंद के दूसरे दोस्तों से भी मिलीं। आरोपी दिलचंद और उसका एक और साथी 2 मार्च को कार लेकर आया और साध्वियों को रास्ते में जाते देख लिफ्ट दे दिया। सभी कार में बैठकर कोरबा की ओर निकल गए। साध्वियों को कुछ दाल में काला लग तो उन्होंने पूछा कि कहां जा रहे हैं। ऐसे में आरोपियों ने कहा कि उसके एक साथी का बर्थडे है। बस उससे मिलकर तुरंत वापस हो लेंगे।
साध्वियों ने कार से उतरने की बात की तो दिलचंद ने उनके कनपटी पर बंदूक तान दी और उन्हें पेंड्रा थाना इलाके में सोननदी के पास सुनसान स्थान पर ले गए। वहां आरोपी के दो और दोस्त थे। चारों ने मिलकर साध्वियों से दुष्कर्म किया। पुलिस ने दिलचंद, यूपी निवासी कल्पनाथ चौधरी, गिरजाशंकर चौधरी, श्यामानंद चौधरी उर्फ तपस्यानंद के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और उन्हें ढूंढ रही है।