मदन महल किले के 300 मीटर दायरे का 90 प्रतिशत इलाका हुआ कब्जामुक्त

जबलपुर: मदन महल किले के 300 मीटर दायरे में स्थित कब्जों को हटाने की कार्रवाई अब अंतिम चरण में पहुंच गई है। पता चला है कि जिला प्रशासन और नगर निगम द्वारा की जा रही कार्रवाई में अब तक करीब 90 इलाका कब्जामुक्त करवाया जा चुका है। संभावना जताई जा रही है कि आज मंगलवार को […]

Continue Reading

रीवा किला परिसर में अनादिकाल से मौजूद है दुनिया का इकलौता महामृत्युंजय मंदिर

रीवा। इस मंदिर की विशेषता यह है कि इसकी बनावट अन्य शिवलिंगों से बिल्कुल अलग है। 1001 छिद्र वाला यह शिवलिंग विश्व में किसी अन्यत्र मंदिर में देखने को नहीं मिलेगा। यहां भगवान महामृत्युजंय के जाप से सभी मनोकामना पूरी होती है। इसी मान्यता के चलते श्रद्धालु दूर-दूर से महामृत्युंजय भगवान के दर्शन के लिए […]

Continue Reading

शिवभक्तों की आस्था का द्वार : नागद्वार-नागबाबा के दर्शनों से मनवांछित फलों की प्राप्ति होती है।

छिन्दवाड़ा/जुन्नारदेव। महादेव शंकर के प्रति असीम भक्ति और श्रद्धा भाव के दर्शन महादेव और नागद्वारी यात्रा के दौरान होते हैं। शिवरात्री पर महादेव यात्रा के दौरान शिवभक्त जहां चौरागढ़ की कठिन चढ़ाई कर भोलेनाथ के दर्शन करते हैं। वहीं नागपंचमी में नागद्वारी यात्रा के दौरान धूपगढ़ के कठिन उतार को उतरकर शिवभक्त नागबाबा की प्रसिद्ध […]

Continue Reading

धराशायी होने की कगार पर विश्व धरोहर गागरोन जलदुर्ग

झालावाड़: झालावाड़ जिला वैसे तो कई प्राकृतिक संपदाओं को अपने इतिहास में समेटे हुए है. लेकिन अब लगता है कि इसकी ऐतिहासिकता सिर्फ पन्नों में ही सिमटकर रह जाएगी. हम बात कर रहे हैं झालावाड़ की शान का प्रतीक माने जाने वाला गागरोन जलदुर्ग की. जिसे यूनेस्को ने 21 जून 2013 को विश्व धरोहर घोषित […]

Continue Reading

मानव कंकालों से बना है चर्च , हर कोई देखना चाहता है यहां का खौफनाक मंजर

मानव कंकाल-यानि की इंसानी हड्डियों का ढ़ाचा, जिसका नाम आते ही लोग खौफ खाने लगते है, दिल दहलने लगता है। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी जहां विश्व में ज्यादातर मंदिर, मस्जिद और चर्च पत्थर के बने होते हैं, वहीं ऐसे भी चर्च है जो मानव कंकालों से बने हुए है। जी हां, विश्व में ऐसे […]

Continue Reading

ओरछा के राम राजा मंदिर की पुरानी परंपरा टूटेगी

टीकमगढ़: मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले में स्थित ओरछा को ‘बुंदेलखंड की अयोध्या’ कहा जाता है. यहां राम राजा का मंदिर है. मान्यता है कि यहां राम भगवान के तौर पर नहीं, राजा के रूप में विराजे हैं. मंदिर की स्थापना के बाद संभवत: पहली बार कपाट खुलने के समय में बदलाव करने का फैसला […]

Continue Reading

3 घंटे में मंदिर के लिए जुटे 150 करोड़, जानें कैसे हुआ ये…

अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) में आरक्षण के लिए गुजरात में सार्वजनिक प्रदर्शन करने वाला पाटीदार समुदाय एक बार फ‍िर चर्चा में है. गुजरात में पाटीदारों के विश्व उमिया फाउंडेशन (वीयूएफ) ने मंदिर और कम्युनिटी कॉम्प्लेक्स के लिए सिर्फ तीन घंटे में 150 करोड़ रुपये जुटाए हैं. रविवार को पाटीदार समाज के लोगों ने वीयूएफ की […]

Continue Reading

रीवा: एक रात में, एक पत्थर से बनें मंदिर में स्थापित है आलौकिक शिवलिंग

रीवा के देवतालाब स्थिति शिव मन्दिर वर्षों से क्षेत्र के लोगों में आस्था का केंद्र बना हुआ है। यहां मंदिर में हर दिन सैकड़ों श्रद्धालु शिव मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचते हैं, देवतालाब मंदिर को लेकर वहां के रहवासिओं के अनुसार कहा जाता है की यह विशाल मंदिर एक ही पत्थर में बना हुआ […]

Continue Reading
रीवा: हेरिटेज होटल में तब्दील होगा यह ऐतिहासिक किला, रेनोवेशन का कार्य शुरू

रीवा: हेरिटेज होटल में तब्दील होगा यह ऐतिहासिक किला, रेनोवेशन का कार्य शुरू

रीवा/भोपाल। पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव हरिरंजन राव ने बताया रीवा में गोविन्दगढ़ किले में रेनोवेशन का काम शुरू हो गया है। वर्ष 2019 के अंत तक यह हेरिटेज होटल बनकर तैयार हो जायेगा। वहीँ भोपाल स्थित ताजमहल को हेरिटेज होटल के रूप में विकसित करने के लिए लीज पर दिया गया है। भोपाल के […]

Continue Reading
रीवा राजा रामचंद्र ने कुछ इस तरह किया था अकबर के बुलावे पर 'संगीत सम्राट तानसेन' को विदा

रीवा राजा रामचंद्र ने कुछ इस तरह किया था अकबर के बुलावे पर ‘संगीत सम्राट तानसेन’ को विदा

सम्राट अकबर के रत्नों में से दो रत्न रीवा के थें पहले बीरबल फिर तानसेन। अकबर को बीरबल की चतुराई भा गई, तो तानसेन के संगीत सुनने के लिए उनके कान तरसने लगे थें। तानसेन का असली नाम रामतनु पांडेय था, जो मुकुंद पांडेय के पुत्र थें, ग्वालियर तानसेन की जन्मस्थल था परन्तु उनकी शिक्षा दीक्षा […]

Continue Reading