ATM में रात 8 के बाद निकलने जा रहे पैसा तो पढ़ ले ये खबर वर्ना होगी बहुत बड़ी दिक्कत

अगर आपका ATM से 5 हजार रूपए निकालने के बाद कटता है चार्ज तो पढ़ ले ये जरूरी खबर

बिज़नेस

अगर आपका ATM से 5 हजार रूपए निकालने के बाद कटता है चार्ज तो पढ़ ले ये जरूरी खबर

नई दिल्ली. वर्ष 2019 में ATM फीस पर बनी भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की एक कमेटी ने 5 हजार रुपए से ज्यादा की कैश निकासी पर चार्ज लगाने की सिफारिश की थी। आरटीआई के जरिए मिली आरबीआई की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है।

ये कंपनी अपने ग्राहकों को देगी सबसे बड़ा ऑफर, अब 50 रुपये का मिलेगा Talktime Loan

आईबीए के तत्कालीन चीफ थे आरबीआई कमेटी के मुखिया

आरबीआई की इस कमेटी के मुखिया इंडियन बैंक्स एसोसिएशन (आईबीए) के तत्कालीन चीफ एक्जीक्यूटिव वीजी कन्नन थे। कमेटी ने यह रिपोर्ट 22 अक्टूबर 2019 को आरबीआई को सौंप दी थी। लेकिन यह रिपोर्ट कभी जारी नहीं की गई। इस रिपोर्ट में एटीएम से नकद निकासी में कमी लाने के लिए 5000 रुपए से ज्यादा की निकासी पर चार्ज लगाने की सिफारिश की गई थी।

Bank से ज्यादा रिटर्न देता है Post Office, पढ़िए पूरी खबर

10 लाख या इससे ज्यादा की आबादी वाले स्थानों पर वित्तीय ट्रांजेक्शन के लिए इंटरचेंज फीस को 2 से बढ़ाकर 17 रुपए और गैर वित्तीय ट्रांजेक्शन के लिए इंटरचेंज फीस को 7 रुपए रखने की बात कही गयी। साथ ही ऐसी जगहों पर फ्री ट्राजेक्शन की संख्या प्रतिमाह 3 बनाए रखी जाए।

  • जबकि 10 लाख से कम आबादी वाले स्थानों पर दोनों प्रकार के ट्रांजेक्शन के लिए इंटरचेंज फीस में 3 रुपए की वृद्धि की सिफारिश की गई है।
  • फ्री ट्रांजेक्शन की हर 6 महीने पर समीक्षा करने की जाए। इसके साथ ही फ्री ट्रांजेक्शन की सीमा ( atm withdrawal limit ) खत्म होने पर 24 रूपए और टैक्स चार्ज के तौर पर लिया जाए। 
  • ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:  FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram

 

Facebook Comments