भोपाल शेल्टर होम रेप केस-2: संचालक की दरिंदगी से तीन बच्चों की हुई मौत1 min read

Bhopal Crime Madhya Pradesh

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में दूसरे शेल्टर होम रेप कांड मामले में पुलिस ने हॉस्टल संचालक MP अवस्थी को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं इस मामले में एक और खुलासा हुआ है जिसमें यह बात सामने आई है कि हॉस्टल संचालक बच्चों को बुरी तरह प्रताड़ित भी करता था. उसकी इसी प्रताड़ना के चलते करीब आठ साल पहले तीन बच्चों की मौत भी हो चुकी है.

दरअसल, मूक बधिर छात्र-छात्राओं ने मामले को लेकर सामाजिक न्याय विभाग में शिकायत की थी. इस शिकायत के बाद कांग्रेस ने मामले को उठाया था. भोपाल के तमाम थानों में कांग्रेस ने शिकायत भी की थी. पुलिस ने शिकायत के बाद मामले में जांच करते हुए तीन FIR दर्ज की है. दो FIR टीटी नगर थाने में जीरो पर दर्ज की है, जिसकी केस डायरी होशंगाबाद जिले और भोपाल के खजूरी थाने को भेजी गई है. इसके अलावा तीसरी FIR खजूरी थाने में दर्ज हुई है. यह FIR 10 मूक-बधिर छात्रा और छात्रओं की शिकायत पर दर्ज की गई है.

इस FIR में हॉस्टल संचालक MP अवस्थी के साथ उसके भाई और केयरटेकर के पति पर FIR दर्ज की गई है. पुलिस मामले की जांच कर रही है मामले में छात्राओं के बयान के बाद और कई बड़े खुलासे होने की संभावना है.

आठ साल पहले प्रताड़ना से तीन बच्चों की मौत
– एक बच्चे की यौन शोषण के बाद शरीर से ब्लीडिंग होने से उसकी मौत हो गई.
– दूसरे को गीले कपड़े में कड़ाके की ठंड में खुले मैदान में खड़ा कर दिया था.
– तीसरे बच्चे को सिर दीवार में मार दिया, जिससे उसकी मौत हो गई.

कैसे हुआ खुलासा
मूक-बधिरों के साथ हुए शारीरिक शोषण का मामला वाट्सएप मैसेज के बाद सामने आया. यह एक पीड़िता ने वाट्सएप पर रीवा की सामाजिक कार्यकर्ता को भेजा था. इसके बाद मामले में खुलासा हुआ. आरोपी एम पी अवस्थी साईं विकलांग अनाथ आश्रम नाम से संस्था चलाता है. भोपाल की बैरागढ़ पुलिस ने उसे गिरफ़्तार कर लिया है.

Facebook Comments