VIDEO: विंध्य में टिकट वितरण को लेकर AICC कार्यालय में कांग्रेसियों का हंगामा, इस दिग्गज नेता पर लगाए गए गंभीर आरोप

Assembly Election 2018 Bhopal Madhya Pradesh National Rewa Satna Sidhi Vindhya

नई दिल्ली। भारी संख्या में विंध्य से दिल्ली पहुंचे कांग्रेसी उम्मीदवारों ने नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल द्वारा अपने जिले और अन्य जिलों में कर रहे हस्तक्षेप पर कड़ी नाराजगी जताते हुए पार्टी छोड़कर दूसरे दलों में जाने के लिए दिल्ली में प्रेसवार्ता आयोजित करने तक की बात बड़े नेताओ से कह दी।

ज्ञातव्य है कि कांग्रेस उम्मीदवारों की सूची को अंतिम रूप देने के लिए मध्यप्रदेश के सभी बड़े नेताओं की बैठकें लगातार जारी हैं और इन नेताओं के यहां भारी संख्या में भीड़ देखने को मिल रही है, जब मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल पर यह आरोप लगा कि वे अपने चहेतों को ही विंध्य में टिकट देना चाह रहे हैं और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा दूसरे दल से हाल ही में आए पैराशूट नेताओं को कांग्रेस पार्टी के इस चुनाव में टिकट ना देने के वक्तव्य से जहां कांग्रेस कार्यकर्ता बेहद ख़ुश हैं।

पैराशूट वाले नेताओं को तबज्जो, नाराज कार्यकर्ता

वहीं, बीएसपी और सपा के साथ भी गठबंधन ना होने से भी 15 साल से संघर्षरत कांग्रेस कार्यकर्ता को बेहद राहत मिली है। वहीं, दूसरी ओर भाजपा से हाल में शामिल नेताओं को कांग्रेस के महासचिव दीपक बावरिया, राहुल सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा ज्यादा तवज्जो देने के कारण यहां आए उमीदवारों में भारी असंतोष देखा गया। जिसके चलते काफी अफऱातफऱी का माहौल बन गया और कई लोग खुले विरोध में उतर आए है। उन पर यह भी गंभीर आरोप लगा कि वे पार्टी में लंबे अरसे से संघर्षरत नेताओं की उपेक्षा कर रहे हैं। इसका परिणाम कांग्रेस पार्टी को भुगतना पड़ेगा। बगावती तेवर तो यहां तक दिखे कि विंध्य से दिल्ली पहुंचे कांग्रेसियों ने कह दिया कि वे पार्टी से इस्तीफा दे सकते हैं।

ज्ञात हो कि विंध्य क्षेत्र में कांग्रेस पार्टी अपना वनवास समाप्त करने के लिए संघर्षरत है और कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एकजुटता के लिए प्रयासरत हैं और विंध्य क्षेत्र में कांग्रेस के बेहतर प्रदर्शन के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं, परंतु कांग्रेस के नेता कुछ नेता अपने निजी स्वार्थ के चलते जीतने वाले उम्मीदवारों की उपक्षा कर दूसरे नामों को बढ़ावा देने पर विंध्य में जहां 24-25 सीटें आ सकती हैं। वहीं, इसके कारण सीटें भारी मात्रा हार का सामना करना पड़ सकता है।

अजय सिंह कर रहें गुटबाजी 

हुआ यह कि दिल्ली में होने वाली चुनावी बैठक में शामिल होने के लिए विंध्य क्षेत्र से भारी तादाद में कार्यकर्ता और नेता पहुंचे थे, जिनमें सीधी जिले के नेता और कार्यकर्ता थे। इन कार्यकर्ताओं के अंदर यह गुस्सा था कि कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी तो सबको एक होने का मंत्र और संदेश दे रहे हैं। दूसरी तरफ मध्यप्रदेश के अजय सिंह राहुल पार्टी में गुटबाजी और निजी स्वार्थपरता को बढ़ावा दे रहे हैं।

कार्यकर्ताओं में यह भी गुस्सा था कि उनका साथ मध्यप्रदेश के प्रभारी महासचिव और अध्यक्ष कमलनाथ दे रहे हैं। जो अजय सिंह कहते हैं, वही कमलनाथ ओके कह देते हैं। कार्यकर्ताओं की नाराजगी यह भी रही कि पार्टी के निचले स्तर के कैडर को विंध्य में पूरी तरह नकार दिया गया है। कांग्रेस मुयालय दिल्ली के बाहर सीधी जिले के नेता और कार्यकर्ता ही यह कहते सुने गये कि हमारी तीन-तीन पीढिय़ां कांग्रेस पार्टी के साथ जुड़ी रहीं, लेकिन इतनी उपेक्षा कभी नहीं हुई। सो अब उनके पास कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा देने के अलावा और कोई चारा नहीं है। फिलहाल इन बगावती कांग्रेसियों को पूर्व मुयमंत्री दिग्विजय सिंह ने कल मिलने को कहा है, पर यह उम्मीदवार राष्ट्रीय अध्यक्ष से मिलने का प्रयास भी कर रहे हैं।

वीडियो 


Facebook Comments