शहीद ठाकुर रणमत सिंह की मूर्ति का अनावरण करने आएंगे केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह || VINDHYA NEWS

1857 की क्रांति के महानायक अप्रतिम योद्धा की प्रतिमा का केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह 20 को करेंगे कोठी में प्रतिमा अनावरण


सतना. केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह 20 मई को कोठी में शहीद ठाकुर रणमत सिंह की प्रतिमा का अनावरण करेंगे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह भी मौजूद रहेंगे। कार्यक्रम को लेकर सांसद सहित भाजपा तैयारी में जुटी है तो कांग्रेसी सवाल उठाने लगे। दोनों दल अपने-अपने राजनीतिक समीकरण बैठाने में जुट गए हैं। कुल मिलाकर प्रतिमा अनावरण को लेकर राजनीतिक गरमा गई है। वहीं इससे इतर क्षत्रिय समाज से जुड़े एक संगठन प्रतिमा स्वरूप को लेकर सवाल खड़ा कर दिया है। राजनीतिक हल्कों में प्रतिमा अनावरण को लेकर जो गरमी नजर आ रही है उसके पीछे जानकारों का कहना है कि पूरा मामला आसन्न विधानसभा के समीकरणों से जुड़ा हुआ है। राजनीति विश्लेषकों का कहना है कि विंध्य में कांग्रेस की मुख्य धुरी अजय सिंह हैं और उनका प्रभाव क्षत्रिय समाज में काफी है। इधर भाजपा विधानसभा चुनावों की जमीनी तैयारी शुरू कर चुकी है। ऐसे में पार्टी अपना हर कमजोर पक्ष मजबूत करने में जुटी है और विंध्य में जातिगत समीकरण काफी मायने रखते हैं। इसलिए शहीद ठाकुर रणमत सिंह की प्रतिमा अनावरण के बहाने उसने एक बड़ा राजनीतिक दाव भी खेला है।


कांग्रेस का राजनीतिक उबाल
राजनीतिक जानकारों की राय को कांग्रेस का उबाल भी पुष्टि दे रहा है। प्रतिमा अनावरण को विवादों में घेरकर कांग्रेस भाजपा के संदेश को विवादों में करने का प्रयास शुरू कर चुकी है। कांग्रेस ने प्रतिमा को लेकर तमाम सवाल खड़े कर दिए हैं। कांग्रेस ने शहीद रणमत सिंह की महज डेढ़ फीट की प्रतिमा को लेकर तल्ख आपत्ति जाहिर की है। कांग्रेस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि कोठी कस्बे में बिना हाथ पैर की डेढ़ फीट की प्रतिमा लगाई जा रही है जो बेहद आपत्तिजनक है। इस प्रतिमा में सिर के अलावा कुछ नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर देश के गृहमंत्री और मुख्यमंत्री के मन में अमर शहीद रणमत सिंह के प्रति थोड़ा सा भी सम्मान है तो उनकी आदमकद प्रतिमा स्थापित करवाएं। जिला कांग्रेस अध्यक्ष दिलीप मिश्रा ने कहा कि 1857 की क्रांति के महानायक अप्रतिम योद्धा ने मात्र तीन घंटे में पूरी अंग्रेज छावनी को नेस्तोनाबूद कर दिया था। उनकी गौरवगाथा विन्ध्य के जन-जन से सुनी जा सकती है। ऐसे महानायक की डेढ़ फीट की प्रतिमा का अनावरण देश के गृहमंत्री द्वारा किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है।

सांसद ने कांग्रेस से मांगा जवाब
कांग्रेस के इस हमले का जवाब देने सांसद गणेश सिंह खुद आगे आ गए हैं। उन्होंने कांग्रेस पर तीखा हमला करते हुए कहा है कि अगर कांग्रेस को शहीद रणमत सिंह के शौर्य और पराक्रम की थोड़ी भी चिंता होती तो इतने लंबे समय तक सत्ता में रहने के दौरान उनके सम्मान में उनकी आदमकद प्रतिमा स्थापित कर सकती थी। जबकि विगत वर्ष प्रधानमंत्री के आह्वान पर तिरंगा यात्रा के दौरान जब मैं शहीद रणमत सिंह की जन्मस्थली मनकहरी गया था तो यह संकल्प लिया था कि उनके बलिदान और शौर्यगाथा को आगे आने वाली पीढ़ी को जानकारी देने कोठी में उनकी मूर्ति स्थापना, पोड़ी में गेट निर्माण तथा मनकहरी में उनके निवास पर स्मारक तथा गेट की मरम्मत कराउंगा। अब यह संकल्प पूरा होन को है और इसके लिये केन्द्रीय गृह मंत्री स्वयं यहां आ रहे हैं। आदमकद प्रतिमा पर भी उन्होंने कहा कि यह तस्वीर मंैने लोगों से चाही थी लेकिन किसी के पास पूरी तस्वीर नहीं थी। जितनी तस्वीर मिली है उतने की प्रतिमा बनाई गई है, और अगर आदमकद पूरी तस्वीर मिल जाती है तो उसका भी निर्माण कराने में पीछे नहीं हटेंगे।

मनकहरी के ठाकुर, लोकगीतों में स्थान
1857 में आजादी की लड़ाई में सतना के मनकहरी के ठाकुर रणमतसिंह ने अंग्रेजों के छक्के छुड़ा दिए थे। वे महाराजा रघुराजसिंह के समकालीन थे। उन्हें रीवा की सेना में सरदार का स्थान मिला था। ठाकुर रणमतसिंह के बलिदान की गाथा लोकगीतों में गाई जाती है। ठाकुर रणमतसिंह रीवा और पन्ना के बीच का क्षेत्र बुंदेलों से मुक्त कराने में उभरकर सामने आए। अंग्रेजों ने उनको पकडऩे के लिए रीवा महाराजा पर दबाव डाला गया। उन्होंने पत्र लिखकर ठाकुर रणमतसिंह को बुलवाया और आत्मसमर्पण का विकल्प रखा। बाद में रणमतसिंह गिरफ्तार कर लिए गए तथा आगरा जेल में 1859 में फांसी चढ़ा दिया गया।

20 मई दोपहर 12 बजे बजे सतना पहुंचेंगे केंद्रीय गृहमंत्री
केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह 20 मई की प्रात: 11.20 बजे खजुराहो से हेलीकॉप्टर द्वारा प्रस्थान कर दोपहर 12 बजे सतना जिले के कोठी आएंगे। यहां कोठी नगर पंचायत के मनकहरी में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ठाकुर रणमत सिंह की प्रतिमा का अनावरण करेंगे। वे दोपहर 1 बजे कोठी से प्रस्थान कर सडक़ मार्ग से सतना आएंगे। दोपहर 2 बजे हवाई पट्टी से हेलीकॉप्टर द्वारा अम्बिकापुर को प्रस्थान करेंगे। कलेक्टर केन्द्रीय मंत्री के कार्यक्रम की तैयारियों का लगातार जायजा ले रहे हैं।

No comments

Powered by Blogger.