इस बार फ्लॉप साबित हुआ नगर निगम, अब फास्टेस्ट मूवर सिटी नही रही रीवा, इंदौर फिर टॉप पर || REWA NEWS

स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 में  अवॉर्ड पाने वाले शहरों का परिणाम जारी  
पांच श्रेणियों में हुई रैंकिंग जनसँख्या के आधार पर  चयन, किसी भी श्रेणी में रीवा का नाम नहीं 

रीवा. शहर के जनप्रतिनिधि रीवा को  वर्ष 2017-18 में हुए सर्वेक्षण पर  मिले फास्टर मूवर सिटी के एवार्ड  को अब भूल जाएं। किसी प्रकार के  कार्यक्रमों में इस उपलब्धि का नाम अब नहीं लिया जा सकेगा। अब यह  खिताब किसी और की झोली में चला गया है। 

रीवा इसके लिए तय मानकों पर इस वर्ष खरा नहीं उतर सका और अपनी लचर व्यवस्था के चलते इस  खिताब को खो दिया है। बता दें वर्ष 2017 के स्वक्षता सर्वेक्षण में रीवा को फास्टेस्ट मूवर सिटी के खिताब से नवाज़ा गया था, उस वक़्त ननि कमिश्नर रहें कर्मवीर शर्मा ने रीवा की सफाई व्यवस्था के लिए एड़ी चोंटी एक कर दी थी, पर उनके जाने के बाद से रीवा एक आधिकारिक तौर पर सफाई व्यवस्था के लिए लचर नज़र आने लगा, हालात ऐसे हैं की कागजी तौर पर तो सफाई जारी रही परन्तु जमीनी स्तर पर पहले जैसा जूनून ननि अधिकारी-कर्मचारियों में नहीं दिखा

1 से 3 लाख  की आबादी वाले शहरों में भुसावल  (महाराष्ट्र) को यह खिताब दिया गया  है। इसके साथ ही जारी हुए 43  खिताबी शहरों में रीवा का कहीं नाम नहीं है।  पिछले वर्ष स्वच्छता में नंबर वन रहने वाले इंदौर शहर ने प्रदेश का मान फिर बढ़ाया  है। अपनी पुरानी  व्यवस्थाओं को  कायम रख नई  तकनीकी  व्यवस्थाओं के साथ इंदौर ने फिर से यह खिताब अपने नाम कर लिया। वहीं रीवा ने अपनी लचर  व्यवस्थाओं की वजह से अपने  पुराने खिताब को भी खो दिया है।  जबकि प्रदेश के ही भोपाल को  दूसरा स्थान और चंडीगढ़ को  तीसरा स्थान मिला। स्वच्छता  सर्वेक्षण-2018 में टॉप करने वाले  प्रमुख शहरों के नामों की सूची जारी  की गई है। 4203 शहरों की  स्वच्छता के सर्वेक्षण के बाद इन तीनों शहरों को सबसे स्वच्छ पाया  गया। 

केंद्रीय शहरी विकास  राज्यमंत्री हरदीप पुरी ने स्वच्छता सर्वेक्षण-2018 में उल्लेखनीय प्रदर्शन करने वाले प्रमुख शहरों की  सूची जारी की है। इसमें राष्ट्रीय स्तर  के कुल 23 और जोनल स्तर के 20 अवार्ड घोषित किये गये। इसके  साथ ही सबसे अच्छा प्रदर्शन करने  वाले 3 राज्यों व 6 राजधानियों के  परिणाम जारी किए गए हैं।  इन श्रेणियों में हुई गणना  केंद्रीय शहरी विकास द्वारा इस वर्ष  स्वच्छता सर्वेक्षण के परिणाम को पांच  श्रेणियों में रखा गया है। जिनमें सबसे  स्वच्छ शहर, फास्टेस्ट मूवर सिटी, बेस्ट  सिटीजन फीडबैक, बेस्ट इनोवेशन एडं  बेस्ट प्रेटिस व बेस्ट सालिड वेस्ट  मैनेजमेंट में शहरों की रैकिंग की गई  है। इसके साथ शहरों को भी आबादी  के अनुसार रखा गया है। रीवा के बराबर आबादी वाले शहरों में सबसे स्वच्छ न्यू दिल्ली नगर निगम है। सिटीजन फीडबैक में गिरिध (झारखंड), सालिड वेस्ट मैनेजमेंट में  तिरूपति आंध्रप्रदेश सबसे आगे है। 

No comments

Powered by Blogger.