रीवा-जबलपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन में पथराव, यात्रियों में दहशत


जबलपुर. जबलपुर-कटनी रेलखंड में गुरुवार को पत्थरबाजों ने फिर एक ट्रेन को निशाना बनाया। 22190 अप रीवा-जबलपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस जैसे ही देवरी स्टेशन से कुछ आगे बढ़ी, उस पर पत्थर बरसाना शुरू कर दिया। अज्ञात लोगों द्वारा फेंके गए पत्थर ट्रेन के इंजन में लगे। इससे कोई यात्री तो हताहत नहीं हुआ, लेकिन इंजन के कांच फूट गए। घटना में एक ड्राइवर घायल हो गया। संयोगवश उन्हें ज्यादा चोट नहीं आया, यदि ड्राइवर होशो-हवास खो बैठते तो ट्रेन पर पथराव की यह घटना किसी बड़ी दुर्घटना का सबब बन जाती।

जानकारी के अनुसार इंटरसिटी एक्सप्रेस सुबह करीब १० बजे देवरी-अधारताल के बीच किलोमीटर क्रमांक 1104/8 पर पहुंची, तभी पथराव शुरू हो गया। पत्थर लगने से ट्रेन के इंजन (क्रमांक 16777) का कांच क्षतिग्रस्त हो गया। कांच के टुकड़े असिस्टेंट ड्राइवर को लगे, जिससे वह घायल हो गया।

पहले भी घटना
जबलपुर-कटनी रेलखंड पर पत्थरबाजी की यह तीसरी घटना है। कुछ दिनों पहले पत्थरबाजों ने अधारताल-देवरी के बीच ट्रेन पर पत्थर फेंके थे। इसमें कुछ यात्रियों को चोटें आई थीं। इससे पहले जबलपुर-नरसिंहपुर रेलखंड पर हुई पत्थरबाजी की घटना में ड्राइवर का सिर फूट गया था। ट्रैक पर दौड़ती ट्रेनों पर पथराव से यात्री दशहत में हैं। आरपीएफ और जीआरपी की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठ रहे हैं। पत्थर फेंककर ट्रेनों और यात्रियों को नुकसान पहुंचाने के बाद पत्थरबाज पकड़ में नहीं आते। पुलिस ट्रैक पर पेट्रोलिंग भी करती है्र, लेकिन पत्थरबाज पकड़ में नहीं आते हैं।

पहले पलटाने की हो चुकी है साजिश
एक साल पहले भी इसी स्थान पर ट्रेन पलटाने की साजिश रची गई थी। बताया जा रहा है कि यहां पटरियों पर बोल्डर रख दिये थे। आरपीएफ की प्रारंभिक जांच पड़ताल में पता लगा है कि कुछ आवारा किस्म के लड़कों ने पथराव की इस घटना को अंजाम दिया है। असामाजिक तत्वों लिए यह स्थल लंबे समय से वारदातों का केन्द्र बना हुआ है।

रीवा की ये ख़बरें भी पढ़ें....

No comments

Powered by Blogger.