मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के लिए ऐसा रहेगा चुनावी साल | MP NEWS


मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के लिए 06 नवम्बर तक का समय काफी कष्टदायक एवं चुनौतीपूर्ण रहेगा। यह कष्ट उन्हे उसी मंगल ग्रह के कारण मिलेगा जिसके कारण वो सांसद से मुख्यमंत्री बन गए थे। 2 मई से इसका प्रभाव शुरू हो गया है। ज्योतिष कहती है कि इस दौरान काफी उठा पटक होगी। चौहान का प्रभाव घटेगा। नई चुनौतियां सामने आएंगी और कष्ट बढ़ेगा। केवल शिवराज ही नहीं अमित शाह के लिए भी यह समय शिवराज सिंह की ही तरफ काफी परेशानी भरा होगा। 

भारतीय ज्योतिष में मंगल ग्रह बहुत प्रभावशाली माना जाता है। यह शुभ होने पर अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी को गोल्ड मैडल, राजनीति में मुख्यमंत्री, प्रभानमंत्री, पुलिस व सेना का प्रमुख, फिल्मी जगत का बड़ा अभिनेता बना देता है। वहीं बिगड़ने पर व्यक्ति को अर्श से फर्श पर तथा कैंसर जैसी असाध्य बीमारी, अग्निकांड तथा भूकंप व भूचाल ला देता है। मंगल ग्रह 2 मई, 2018 को अपनी मकर राशि उच्च में प्रवेश कर गया है तथा 6 नवम्बर, 2018 तक रहेंगे।

प्राकृतिक आपदाएं, राजनीति में उठा-पटक
मंगल मेष तथा वृश्चिक राशि का स्वामी है तथा मकर में उच्च कहलाता है, जबकि कर्क राशि में यह नीच का हो जाता है। मंगल जन्म पत्री चंद्र लग्न से गोचरवश तीसरे, छठे और ग्यारहवें भाव में शुभ फल देता है। शेष भाव में इसका अशुभ फल समझा जाता है। मंगल का राशि परिवर्तन दुनिया और नेताओं पर अपना विशेष प्रभाव डालेगा तथा उग्रता बढ़ाएगा। राजनीति में उठा-पटक, दुनिया में उथल-पुथल तथा युद्ध के हालात पैदा करेगा। तूफान और गर्मी की वजह से प्राकृतिक दैवी आपदाएं बढ़ेगी। विशेष कर गुजरात में समुद्री आपदाएं बढ़ेंगी।

दुनिया भर में गूंजेंगे भारत की कोर्ट के फैसले
भारत-पाक सीमा पर घमासान होगा। भवन निर्माता व ठेकेदारों को कुछ आगे बढ़ने के अवसर मिलेंगे। जमीन संबंधीं कोई नई नीति व कानून बनेंगे। शेयर मार्केट में अचानक उतार-चढ़ाव के प्रबल योग बनेंगे। सुप्रीमकोर्ट द्वारा राम मंदिर, आरक्षण एवं अन्य सामाजिक मुद्दों में चमत्कारी परिवर्तन और भारत के कानून का डंका देश-विदेश में बजेगा।

किसी बड़े नेता के संबंध में दुखद समाचार आएगा
मंगल के साथ केतू की युति होने के कारण मंगल का प्रकोप और उग्र तथा राजनेताओं में उठा-पटक के दौर बढ़ेंगे तथा पार्टियों में आया राम गया राम की स्थिति बनेगी तथा हरियाणा, मध्य प्रदेश, राजस्थान और कर्नाटक में राजनीतिक उठापटक व घमासान होगा। किसी बड़े राजनेता के संबंध में असुखद समाचार मिलने के संकेत पाए जाते हैं।

इन नेताओं के प्रभाव में वृद्धि होगी
माननीय चीफ जस्टिस सुप्रीमकोर्ट दीपक मिश्रा, आर.एस.एस. प्रमुख मोहन भागवत, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, अशोक गहलोत, कर्नाटक के कांग्रेस नेता सिद्धारमैया, अरविंद केजरीवाल, प्रो. रामबिलास शर्मा, चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के व्यक्तिगत प्रभाव एवं साहस में वृद्धि होगी।आशातीत लाभ और इनका हक दिलाने में मंगल कारगर सिद्ध होगा तथा शत्रुओं को नाकों चने चबवा देगा। 

इन नेताओं के लिए समय चुनौतीपूर्ण व कष्टदायक
वहीं दूसरी ओर श्रीमती सोनिया गांधी, अमित शाह, रामदेव, मनोहर लाल खट्टर, वसुंधरा राजे सिंधिया, शिवराज सिंह चौहान, पूर्व मुख्यमंत्री बी.एस. येद्दियुरप्पा, भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के लिए चुनौतीपूर्ण व कष्टदायक सिद्ध होगा।

No comments

Powered by Blogger.