ढाई करोड़ से अधिक युवा वोटर तय करेंगे मध्यप्रदेश में बनेगी किसकी सरकार || MP NEWS


भोपाल। मध्यप्रदेश में अगली सरकार किसकी बनेगी, यह युवा मतदाता तय करेंगे। ढाई करोड़ से ज्यादा मतदाताओं की उम्र 40 साल से कम है। वोटरों की इस बड़ी संख्या में 50% से ज्यादा का हिस्सा युवा और नौजवान वोटरों का है। यह वह भीड़ है, जिनमें शिक्षा की भूख, बेहतर नौकरी की चाहत, महंगाई और सरकारी कर्मचारियों के रिटायरमेंट की उम्र दो साल बढ़ाए जाने से प्रदेश का युवा वर्तमान भाजपा सरकार से नाराज है। 

राज्य चुनाव आयोग के आंकड़ों के अनुसार मतदान केंद्र पर वोट डालने के लिए लगने वाली लाइन में हर छठा वोटर 18 से 40 साल के बीच का होगा। इन नए वोटरों को रिझाने के लिए राजनीतिक पार्टियों के एजेंडे में भी बदलाव के लिए मंथन जारी है। राज्य निर्वाचन आयोग शत-प्रतिशत मतदाता बनाने के लक्ष्य को लेकर काम कर रहा है। इसके लिए योजनाबद्ध तरीके से अभियान चलाया गया, बूथ स्तर पर अधिकारियों को वोटर बनाने की जिम्मेदारी दी गई। 

शिवराज सरकार ने चला नया दांव
युवाओं को खुश करने के लिए शिवराज सरकार ने चुनावी साल में फिर नया दांव चला है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया है कि सरकार आने वाले दिनों में एक लाख नई भर्तियां करेगी, साथ ही सूबे में नए पदों के सृजन पर कोई रोक नहीं लगाई जाएगी। ऐसे में मध्यप्रदेश में लगातार चौथी बार सरकार बनाने के लिए सीएम शिवराज युवाओं को साधने के लिए हर स्तर पर जतन कर रहे हैं। वहीं कांग्रेस पार्टी भी इस बार सत्ता पाने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा देगी।

ठोस व सार्थक वायदे
नए और युवा मतदाताओं में हर जाति, वर्ग और मजहब के शामिल हैं। इसलिए राजनीतिक दल चुनाव के लिए जारी घोषणा पत्र में घिसे-पिटे वायदों को दरकिनार कर ठोस व सार्थक वायदों पर विचार कर रहे हैं। भाजपा और कांग्रेस सहित प्रदेश में लगभग सभी प्रमुख दल घोषणा पत्र का स्वरूप बदलना, युवा जरूरतों के मुताबिक नीति बनाने और उन पर अमल करने की स्पष्ट घोषणा जैसी योजना पर काम कर रहे हैं, ताकि आने वाले विधानसभा चुनाव में वे युवाओं को रिझा सकें।   

  • मतदाताओं की कुल संख्या 5 करोड़ 7 लाख 80 हजार 373 
  • पुरुष मतदाताओं की संख्या 2 करोड़ 65 लाख 78 हजार 271 
  • महिलाओं मतदाताओं  की संख्या 2 करोड़ 42 लाख 785 
  • प्रदेश में थर्ड जेंडर मतदाताओं की संख्या 1 हजार 317


No comments

Powered by Blogger.