20 दिन से लापता था युवक, जंगल में लटकता मिला शव || REWA NEWS



जंगल में तेंदुपत्ता तोडऩे गये लेागों ने शव देखा सूचना पुलिस को दी, गोविन्दगढ़ पुलिस मौके पर पहुंची




रीवा. करीब बीस दिन पूर्व लापता युवक का क्षतविक्षत अवस्था में शव मिलने से सनसनी फैल गई। शव पेड़ में लटक रहा था। प्रथम दृष्ट्या पुलिस आत्महत्या की आशंका जता रही है। गोविन्दगढ़ थाना अन्तर्गत टीकर के जंगल में बुधवार की सुबह युवक का शव लटकता मिला। जंगल में तेंदुपत्ता तोडऩे गये लेागों ने उसका शव देखा जिसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने शव को नीचे उतरवाया जिसकी पहचान भानू उर्फ ललऊना केवट पिता परमसुख (23) निवासी ग्राम टीकर बिलबिलिहा टोला के रूप में की है। सीन आफ क्राइम यूनिट के वरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी डॉ. आरपी शुक्ला ने भी टीम के साथ घटनास्थल का निरीक्षण किया।

परिजनों ने की शव की पहचान
पुलिस ने परिजनों को घटना की सूचना दी जिस पर परिजनों ने भी शव की पहचान कर ली। शव करीब 15 से 20 दिन पुराना बताया जा रहा है जो पूरी तरह से सड़ गया था। युवक 24 अप्रैल को घर से निकला था जिसके बाद वह लापता हो गया। परिजनों ने उसकी हर संभावित जगह पर तलाश की लेकिन कोई जानकारी नहीं मिलने पर 1 मई को शिकायत गोविंदगढ़ थाने में दर्ज कराई। परिजनों के साथ पुलिस भी युवक की तलाश कर रही थी लेकिन बुधवार की सुबह उसका शव बरामद हो गया। प्रथम दृष्टया पुलिस आत्महत्या की आशंका जता रही है। युवक की दिमागी हालत कुछ समय से खराब थी और वह अक्सर गांव से तेंदू खाने के लिए जंगल जाया करता था। पुलिस ने परिजनों के बयान दर्ज कर घटना की जांच शुरू कर दी है।


पुलिस ने दी आर्थिक सहायता

पीडि़त परिजनों की आर्थिक स्थिति काफी खराब थी और उनके पास शव को ले जाने के लिए भी रुपए नहीं थे। थाना प्रभारी ने परिजनों को आर्थिक सहायता दी और स्वयं के वाहन से शव को पोस्टमार्टम के लिए मर्चुरी भिजवा दिया। घटना से पीडि़त परिवार सदमे में है।

जांच की जा रही है
अजय सोनी, थाना प्रभारी गोविंदगढ़ ने बताया कि जंगल में युवक का शव पेड़ पर लटकता हुआ मिला था जिसकी गुमशुदगी थाने में दर्ज थी। घटनास्थल का निरीक्षण कर उसे पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवा दिया गया। जांच के बाद ही घटना से जुड़े वास्तविक कारण सामने आएंगे।

No comments

Powered by Blogger.