TRS MURDER : नितिन हत्याकांड का एक और आरोपी गिरफ्तार, पुलिस ने ऐसे पकड़ा | REWA NEWS


रीवा | TRS कॉलेज में हुए नितिन सिंह जघन्य हत्या कांड में एक नए आरोपी सत्यम तिवारी उर्फ सत्यम मोराई के नाम का खुलासा एवम गिरफ्तारी रविवार को हुई है। आरोपी सत्यम ने ही दी थी मुख्य आरोपी वैभव सिंह को पिस्टल, जिससे की गयी नितिन सिंह की हत्या । घटना में प्रयुक्त मोटर सायकल काले रंग की पल्सर 180 सी सी बरामद कर ली गई है। 


घटना में शामिल और भी चेहरे हो सकते है बेनक़ाब । आरोपी सत्यम तिवारी थाना विश्वविद्यालय का शातिर बदमाश।साइबर सेल प्रभारी उनि गौरव मिश्रा,थाना प्रभारी विश्वविद्यालय शिवपूजन मिश्रा,थाना प्रभारी बिछिया वीरेंद्र पवार एवं उनि रानू वर्मा का गिरफ्तारी में विशेष योगदान। गिरफ्तार आरोपी ने शहर के कई नामी कोरेक्स एवम शराब के ठिकाने तथा अवैध हथियार रखने वाले अपराधियों की दी है अहम जानकारी। उन ठिकानों पर दबिश जारी ।

बता दें मंगलवार 27 मार्च को नितिन सिंह गहरवार (19), जो टीआरएस महाविद्यालय, रीवा में बीएससी फाइनल इयर का छात्र था, की वैभव ठाकुर द्वारा महाविद्यालय के अन्दर ही गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. जिसमे वैभव के साथ एक अन्य आरोपी मयंक सिंह उर्फ़ संग्राम को महाविद्यालय के छात्रों द्वारा पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया गया, परन्तु वैभव ठाकुर वहां से फरार हो पाने में सफल हो गया था. वारदात का पूरा दृश्य महाविद्यालय के CCTV में कैद हो गया है. Click here to download Rewa Riyasat's Android App

घटना के दुसरे दिन बुधवार को वैभव ठाकुर फेसबुक पर लाइव हुआ, 'लोगो ने मजबूर किया बुरा बनने मे इसलिये हम बुरे ही अच्छे' स्टेटस फेसबुक पर पोस्ट भी किया, जिससे पुलिस को उसकी लोकेशन पता होने की उम्मीद थी, बावजूद इसके भी पुलिस अब तक खाली हाँथ है. वहीँ टीआरएस कॉलेज बुधवार को बंद रखा गया, प्रदर्शन पर बैठे छात्रों ने प्रशासन से मांग रखी है जब तक आरोपी वैभव ठाकुर गिरफ्तार नहीं हो जाता, और महाविद्यालय में पुलिस चौकी नहीं बनवा दी जाती, तब तक महाविद्यालय में कक्षाएं संचालित नहीं होंगी. 

जाने पूरा घटनाक्रम
संभाग के सबसे बड़े ठाकुर रणमत सिंह स्वशासी महाविद्यालय मे दोपहर लगभग 2 बजे वैभव ठाकुर ने पुरानी रंजिश के चलते छात्र नितिन सिंह पर सरेआम गोली दाग दी गोली लगते ही छात्र नितिन सिंह की मौत हो गई । घटना की सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल पहुची तब तक हत्या के आरोपी वैभव ठाकुर व उसका साथी संग्राम सिंह मौका देख फरार हो गए । बाद मे पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए एक आरोपी संग्राम सिंह को दबोच लिया । जबकि हत्या का मुख्य आरोपी वैभव सिंह भागने मे कामयाब रहा। Click here to download Rewa Riyasat's Android App


घटना की सच्चाई पुलिस जांच के बाद ही सामने आएगी। इस घटना से छात्रो मे भय व्याप्त है। टी आर एस कालेज पूरी तरह से असुरक्षित होता जा रहा है । लगातार हो रही घटनाओ को देखते हुए यहा तत्काल पुलिस चौकी खोली जानी चाहिए। ताकि यहा पढने वाले छात्र व पदस्थ शिक्षक अपने आप को सुरक्षित महसूस कर सके। Click here to download Rewa Riyasat's Android App

No comments

Powered by Blogger.