RSS के सर्वे में घटी BJP की लोकप्रियता: 37 सीट पर जीत तय, 3 मंत्री सहित 20 विधायक खतरे में

रायपुर। छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव से पहले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सर्वे ने सरकार और भाजपा संगठन के माथे पर बल ला दिया है। संघ के पदाधिकारियों ने बस्तर से लेकर सरगुजा तक प्रदेश की 90 विधानसभा सीट का एक महीने में गहन सर्वे किया।
संघ के उच्च पदस्थ सूत्रों की मानें तो सर्वे रिपोर्ट में प्रदेश की 37 सीट पर भाजपा क्लीन स्वीप कर रही है। इसमें पांच से सात नई सीटें भाजपा के खाते में आ रही हैं, जहां पिछले चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था। सबसे चौंकाने वाला आंकड़ा यह सामने आया है कि तीन मंत्रियों सहित 20 विधायकों की सीट खतरे में बताई जा रही है।
संघ के आला पदाधिकारियों ने बताया कि कई विधानसभा में सड़क, पुल, पुलिया और पेयजल की व्यवस्था होने के बाद भी विधायकों में नाराजगी है। संघ ने ऐसे विधायकों को टिकट नहीं देने का सुझाव दिया है। संघ के सर्वे में बस्तर और सरगुजा में भाजपा की सीट पर बढ़त बताई जा रही है, लेकिन मैदानी इलाकों में एक दर्जन सीट पर वर्तमान विधायकों की स्थिति बेहद चिंताजनक है।
दुर्ग, रायपुर और धमतरी के वरिष्ठ मंत्रियों की विधानसभा में करोड़ों के विकास कार्यों के बाद भी जनता में नाराजगी देखने को मिली है। कुछ विधायकों के व्यवहार, जनता का काम नहीं करने और जनता से सीधा संपर्क नहीं रखने के कारण नाराजगी सामने आई है।
पदयात्रा में भी मिली है निराशाजनक रिपोर्ट
भाजपा के उच्च पदस्थ सूत्रों की मानें तो पार्टी की पदयात्रा के दौरान जहां एक बड़े क्षेत्र में बेहतर रिस्पांस मिला, वहीं कई इलाकों की रिपोर्ट निराशाजनक बताई जा रही है। इन इलाकों में पार्टी के स्थानीय नेतृत्व के कारण निराशा है, जिसे देखते हुए वहां नए नेताओं को मौका मिलने की संभावना जताई जा रही है।
इन विधायकों पर सबसे ज्यादा खतरा
संघ के पदाधिकारियों ने बताया कि कवर्धा, पंडरिया, साजा, लोरमी, आरंग, बिंद्रानवागढ़, भरतपुर सोनहत, मनेंद्रगढ़, सक्ति , पामगढ़, बिलाईगढ़, वैशाली नगर के विधायकों पर सबसे ज्यादा खतरा है।
इन सीटों में बढ़त की उम्मीद
इन सीटों रायपुर ग्रामीण, अभनपुर, बिल्हा, लुंड्रा, कोरबा, बलौदाबाजार, डौंडीलोहारा, गुंडरदेही, खैरागढ़ में बढ़त की उम्मीद है।
विधानसभा चुनाव को लेकर हुए सर्वे, पार्टी पदाधिकारियों की पदयात्रा की रिपोर्ट और मिशन 65 प्लस को लेकर रविवार को बैठक होगी। इसमें सभी मुद्दों पर विस्तार से चर्चा होगी और चुनावी रणनीति का खाका तैयार किया जाएगा। - धरमलाल कौशिक, प्रदेश अध्यक्ष, भाजपा

No comments

Powered by Blogger.