नगर निगम ने नगरवासियों को फिर दिखाया सिटी बस का सपना, पढिये पूरी खबर | REWA NEWS


रीवा | बढ़ती आबादी के बीच यातायात के घनत्व को कम करने के लिए एक बार फिर नगर निगम ने गत दिवस पेश बजट में सिटी बस का सपना नगरवासियों को दिखाया है। अहम बात यह है कि बीते तीन साल से मामला निविदा में अटका हुआ है। ऐसे में यहां के रहवासियों को सुगम यातायात की सुविधा कब तक मिल पाएगी, यह यक्ष प्रश्न बना हुआ है।
अर्बन ट्रांसपोर्ट योजना के अंतर्गत स्पेशल पर्पज व्हीकल का गठन तीन साल पहले किया गया था। जिसमें ननि द्वारा रूट चार्ट का निर्धारण क्लस्टर के अनुसार किया गया था। ताकि सिटी बसों का संचालन एक क्रम से चल सके। गौर करने वाली बात यह है कि पिछले वर्षों की तरह इस वर्ष भी नगर निगम ने नगरवासियों को आॅटो के बढ़ते किराए से छुटकारा दिलाने का सपना दिखाया है।
अपनी वित्तीय वर्ष 18-19 की बुकलेट में भी ननि ने इस वर्ष सिटी बस संचालन के बारे में पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम को लागू करने की बात कही है। बता दें कि पिछले तीन साल से नगर निगम सिटी बस संचालन के लिए भोपाल से निविदा की मांग कर रहा है। मगर विभाग शहर को सिटी बस चलाने योग्य नहीं मान रहा है। बता दें कि अप्रैल 2016 में रीवा सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विसेज के नाम से कंपनी का पंजीयन कराया गया था। जिसमें अमृत योजना अंतर्गत अर्बन ट्रांसपोर्ट मोबिलिटी कार्य हेतु 10 करोड़ की स्वीकृति भी प्राप्त हुई थी।
वाहन का पता नहीं, बना रहे बस स्टॉप
सिटी बस संचालन के लिए रीवा जिले को अब तक स्वीकृति नहीं मिली है। मगर नगरवासियों को दिखावे के लिए नगर निगम जोरों से बस स्टॉप का निर्माण कराया जा रहा है। आलम यह है कि इन प्रतीक्षालयों में लगी सारी धातु की सामग्री को स्थानीय निवासी तोड़कर कबाड़ के भाव बेच रहे हैं। देखा जाए तो नगर निगम प्रशासन जहां नगर के विकास के लिए प्रयास कर रहा है, वहीं विभागीय अधिकारियों की लापरवाही के चलते नगर निगम की पूरी योजनाएं फेल होती जा रही हैं।
शहर में चलनी हैं 25 सिटी बसें
कंपनी के सदस्यों द्वारा दिए गए सुझावों के आधार पर शहर के अंदर सिटी बसों की संख्या एवं मार्ग निर्धारित किए गए थे। जिसे रेलवे स्टेशन, रतहरा बायपास, विश्वविद्यालय, पीटीएस चौराहा, कुठुलिया, सिलपरा जैसे इलाकों में कुल 25 सिटी बस चलाने की योजना बनाई थी। गौरतलब है कि नगर में पब्लिक ट्रांसपोर्ट के नाम पर आॅटो ही प्रमुख साधन है। ऐसे में नगरवासियों का कहना है कि नगर निगम प्रति वर्ष सिटी बस का सपना लेकर आता है और नगरवासी सिर्फ इंतजार करते रह जाते हैं।
शहर में सिटी बस का संचालन करने के संबंध में निविदा की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। जल्द ही इस संबंध में गाइड लाइन जारी हो जाएगी। गाइड लाइन के तहत शहरी क्षेत्र में सिटी बस के संचालन की प्रक्रिया को विधिवत अंजाम दे दिया जाएगा।
प्रवीण कुमार सिंह, अपर आयुक्त, नगर निगम रीवा

No comments

Powered by Blogger.