महाराजा मार्तण्ड सिंह व्हाइट टाइगर सफारी में पर्यटक अब बब्बर शेर का कर सकेंगे दीदार | REWA NEWS



रीवा । महाराजा मार्तण्ड सिंह व्हाइट टाइगर सफारी में आज चार नये मेहमान और आये। उद्योग मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने सफेद बाघ तथा बब्बर शेर के जोड़ों की सफारी में अगवानी की। इनमें मैत्री बाग भिलाई से आये सफेद बाघ गोपी तथा सोनम एवं कानन पिंडारी बिलासपुर से बब्बर शेर शिवा तथा जैसमिन की जोड़ी शामिल थी। उद्योग मंत्री ने इनके लिये बनाये गये बाड़ों का लोकार्पण भी किया।
                इस अवसर पर उद्योग मंत्री ने कहा कि आज का दिन रीवा तथा विन्ध्य के लिये ऐतिहासिक दिन है। आज विन्ध्य में पहली बार बब्बर शेर आये हैं। उन्होंने कहा कि सफेद बाघ रीवा की पहचान है। बब्बर शेर का मिलना सफारी के लिये बड़ी उपलब्धि है। अब यहां आने वाले पर्यटक सफेद बाघ के साथ बब्बर शेर का भी दीदार कर सकेंगे। उन्होंने इन जोड़ों को लाने में सांसद जी की सक्रियता के लिये भी साधुवाद दिया।
उद्योग मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जी की संवेदनशीलता का परिणाम है कि व्हाइट टाइगर सफारी को बजट मिलने में दिक्कत नहीं हो रही है। शेष राशि से निर्माणाधीन 22 बाड़ों का कार्य पूर्ण कराकर सफारी के कुल 39 बाड़ों में 492 जानवरों को जल्दी से जल्दी लाया जायेगा। योजनाबद्ध तरीके से यह सफारी दुनिया के पर्यटन के मानचित्र पर स्थापित होगी। उन्होंने बताया कि सफेद बाघ पर बड़ी डाक्यूमेंट्री फिल्म को प्रदेश व देश के सभी सिनेमा घरों, मल्टीप्लेक्स में प्रदर्शित किया जायेगा। जिससे सफेद बाघ व व्हाइट टाइगर सफारी के बारे में अधिक से अधिक जानकारी मिलेगी। उद्योग मंत्री ने वन विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियों के लगन व मेहनत की प्रशंसा की तथा नये मेहमानों को लाने वाली टीम को बधाई दी।
सांसद जनार्दन मिश्र ने कहा कि देश के वन्य प्राणी विशेषज्ञों ने यह माना है कि रीवा की व्हाइट टाइगर सफारी देश में बाघ के लिये सबसे उपयुक्त जगह है। उन्होंने मंत्री जी को सफेद बाघ को वापस लाकर सफारी निर्माण के लिये साधुवाद दिया। उन्होंने कहा कि विभागीय अधिकारियों, कर्मचारियों की लगन प्रशंसनीय है। पूर्व मंत्री पुष्पराज सिंह ने अपने उद्बोधन में कहा कि उद्योग मंत्री ने पर्यावरण चेतना जगाने का कार्य किया है। सफेद बाघ हमारा अधिकार था मगर बब्बर शेर मिलना सफारी के लिये बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने सफारी के निरंतर विकास के लिये मंत्री जी व सांसद जी को धन्यवाद भी दिया।
इस अवसर पर उद्योग मंत्री ने सफारी कियोस्क सेंटर का लोकार्पण किया। जिसमें पैक छांछ, आम का पना व देशी खाद्य उत्पाद उपलब्ध रहेंगे। कार्यक्रम में मुख्य वन संरक्षक एम. काली दुरई ने अतिथियों के प्रति आभार व्यक्त किया। सफारी के डायरेक्टर संजय रायखेड़े ने सफारी का प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए नये मेहमानों के लाने में मंत्री जी व सांसद जी के योगदान के लिए साधुवाद दिया। इस दौरान विन्ध्य विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष सुभाष सिंह, विधायक प्रतिनिधि विवेक दुबे, जिला गौ संवर्द्धन बोर्ड के उपाध्यक्ष राजेश पाण्डेय, डीएफओ सतना राजीव मिश्रा, राजागोपालचारी सहित जनप्रतिनिधि, विभागीय अधिकारी व पत्रकार उपस्थित थे।

No comments

Powered by Blogger.