आजीवन कारावास के आरोपी ने दो पर किया जानलेवा हमला, चलाई गोली || REWA CRIME NEWS



एक वर्ष पूर्व हुआ था जमानत पर रिहा, हवा में चलाई गोली, आक्रोशित लोगों ने हाइवे जाम किया वाहनों की लगी लंबी कतारें 

रीवा. हत्या के मामले में जेल से जमानत पर रिहा हुए आजीवन करावास के आरोपी ने रविवार की रात रेस्टोरेंट संचालक सहित दो पर प्राणघातक हमला कर दिया। गंभीर रूप से घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इधर घटना से आक्रोशित लोगो ने नेशनल हाईवे पर चकाजाम कर दिया और आरोपियों के घर के बाहर खड़े ट्रेटर को आग के हवाले कर दिया। घटना की सूचना पर पहुंचे भारी पुलिस बल और अधिकारियों ने करीब दो घंटे बाद आक्रोशित लोगों को समझाइस देकर मामले को शांत कराया और जाम खुलावाया। आरोपियों की तलास में पुलिस की अलग-अलग टीमे रवाना हो गई है, लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। 

घटना रायपुर कर्चुलियान थाना के रामनई है। रविवार की हत्यारोपी सहित कुछ बदमाशों ने ढाबे में फायरिंग कर दी। घटना में 2 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। घटना के बाद पूरे कस्बे में बवाल मच गया। घटना के संबध में मिली जानकारी के अनुसार रायपुर कर्चुलियान थाना के रामनई स्थित राजू मिष्ठान रेस्टोरेंट के संचालक राजेश यादव 38 वर्ष व वड़े भाई रामायण यादव 45 वर्ष निवासी रामनई रविवार की रात करीब 8.30 बजे ढाबे में बैठे हुए थे। इस दौरान हथियारों से लैस आरोपी शीलू सिंह उर्फ शैलेंद्र व उसका भाई धीरू उर्फ धीरेंद्र सिंह अपने सफारी वाहन में सवार होकर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने रेस्टोरेंट संचालकों को से नमकीन और ठण्डा लिया और वहां बैठकर शराब पीने लगे। मना करने पर उसे साथ ही धमकाने लगे। इस दौरान रेस्टोरेंट के संचालक राजेश यादव ने आरोपियों को मना किया तो विवाद पर उतारू हो गए। हथियारों से लैस बदमाशों ने ढाबा संचालक व उसके भाई पर हमला कर दिया। 



बताया जा रहा है आरोपी ने मारपीट कर भागने के दौरान जेब से पिस्टल निकालकर फायरिंग भी की और फरार हो गए, गोली रामायण यादव के कनपटी के पास से निकल गई। वही उसके भाई पर आरोपी ने तलवार से हमला कर घायल कर दिया। इस घटना से पूरे कस्बे में तनाव का वातावरण निर्मित हो गया। भीड़भाड़ एकत्र होते ही आरोपी मौके से फरार हो गए। पुलिस छावनी बना अस्पताल व घटना स्थल देर रात जैसे ही घायलों को अस्पताल लाया गया तो अस्पताल परिसर पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। पूरे शहर का बल अस्पताल में तैनात हो गया जबकी घटना स्थल पर भी भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया ताकि यहां किसी तरह का दुबारा विवाद न हो। एएसपी शिवकुमार सिंह से अस्पताल और आशुतोष गुप्ता ने घटना स्थल की कमान संभाल रखी थी। पूरी स्थिति को नियंत्रण में रखा। 

No comments

Powered by Blogger.